थोक मूल्य सूचकांक में 3.21% की गिरावट

थोक मूल्य सूचकांक में 3.21% की गिरावट

मुंबई  [ महामीडिया ] लॉकडाउन के दौरान महंगाई काबू में रही है। मई में थोक मूल्य सूचकांक में 3.21 फीसद की गिरावट दर्ज की गई। सोमवार को सरकार द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक मार्च में थोक महंगाई दर 1 फीसदी थी, लेकिन मई में यह -3.21 पर आ गई। पिछले साल मई में यह 2.97 फीसद था। मुद्रास्फीति में यह गिरावट मई में ईंधन और बिजली की कीमतों में तेज गिरावट के कारण आई है, हालांकि इस दौरान खाने-पीने की चीजें महंगी हुईं। बता दें पिछले शुक्रवार, अप्रैल और मई के लिए उपभोक्ता उपभोक्ता मुद्रास्फीति के आंकड़ों के साथ-साथ अप्रैल में औद्योगिक उत्पादन जारी नहीं किया गया था।खाने-पीने की चीजों की बात करें तो मई में खाद्य पदार्थों का थोक मूल्य सूचकांक 1.13 फीसद पर आ गया, जबकि अप्रैल में यह  2.55 फीसद था। वहीं ईंधन और पॉवर की बात करें तो यहां डिफलेशन 19.83 फीसद पर आ गया है। इसमें गिरावट जारी है अप्रैल में यह 10.12 फीसद पर था। जबकि, मई में विनिर्मित उत्पादों में 0.42 प्रतिशत की गिरावट देखी गई।
 

सम्बंधित ख़बरें