छत्तीसगढ़ से निर्यात किया गया 5000 टन चरोटा बंदरगाह पर अटका

छत्तीसगढ़ से निर्यात किया गया 5000 टन चरोटा बंदरगाह पर अटका

भोपाल [ महामीडिया ]भारत चीन सीमा विवाद के बीच छत्तीसगढ़ से चीन के साथ मलेशिया, ताइवान और जापान के लिए निर्यात किया गया चरोटा गुजरात के सूरत और महाराष्ट्र के मुंबई बंदरगाह पर रोक दिया गया है क्योंकि इन देशों के लिए शिप नहीं लग रही है। छत्तीसगढ़ से भेजे गए चरोटा के अंतिम खेप की मात्रा 5000 टन बताई जा रही है। औषधीय गुणों से भरपूर भारतीय चरोटा का हमेशा से चीन, मलेशिया, ताइवान और जापान बड़ा ग्राहक रहा है। इस बीच जापान से छत्तीसगढ़ और झारखंड को और बड़ा ऑर्डर मिला। खासकर छत्तीसगढ़ ने मांगी गई गुणवत्ता के अनुरूप निर्यात को ज्यादा प्रमुखता मिलती देख जापान तक अपना उत्पादन पहुंचाने में सफलता पाई।अब सीमा पर घुसपैठ और दोनों सेनाओं के बीच झड़प के बाद बाजार पर असर पड़ना चालू हो चुका है। एक तरफ देश में चीनी सामानों का बहिष्कार किया जा रहा है तो निवेश रोके जाने की खबरें भी आ रही है। जवाब में चीन ने भारत से खरीदे गए चरोटा का आयात रोक दिया है। ऐसे में मुंबई और गुजरात के बंदरगाह में चरोटा की बड़ी मात्रा विवाद खत्म होने का इंतजार कर रही है।

सम्बंधित ख़बरें