अडानी ग्रुप फोर्स मैजर क्लॉज का इस्तेमाल करेगा

अडानी ग्रुप फोर्स मैजर क्लॉज का इस्तेमाल करेगा

नईदिल्ली[महामीडिया]कोरोना संकट को देखते हुए अडानी समूह ने अहमदाबाद, लखनऊ और मंगलुरु एयरपोर्ट का कब्जा एयरपोर्ट अथॉरिटी  से लेने में अभी असमर्थता जताते हुए इसकी डेडलाइन बढ़ाने की मांग की है।इन तोनों एयरपोर्ट का निजीकरण किया जा रहा है।कोरोना महामारी और इसके बाद लगातार जारी लॉकडाउन की वजह से देश की अर्थव्यवस्था की हालत खराब है।   ऐसे में छोटा हो या बड़ा हर तरह का कारोबारी भी परेशान है। अडानी समूह को पिछले साल काफी आक्रामक बोली में इन तीन एयरपोर्ट का पब्लिक-प्राइवेट पार्टनरशिप में कॉन्टैक्ट मिला अब अडानी समूह ने इस कॉन्ट्रैक्ट के लिए आपातकालीन सुविधा 'फोर्स मैजर' क्लॉज का इस्तेमाल किया है. यह ऐसी सुविधा है जिसके तहत किसी प्राकृतिक आपदा या अन्य बड़े संकट जैसे दंगों, महामारी, अपराध आदि की हालत में संबंधित पक्ष कॉन्ट्रैक्ट की शर्तें मानने के लिए बाध्य नहीं रहते। कानूनी भाषा में ऐसी आपदाओं को 'एक्ट ऑफ गॉड' कहते हैं. 
 

सम्बंधित ख़बरें