अमेरिका ने चीन की 11 कंपनियों पर प्रतिबंध लगाया

अमेरिका ने चीन की 11 कंपनियों पर प्रतिबंध लगाया

वाशिंगटन[ महामीडिया ] अमेरिका और चीन के बीच चल रही व्यापारिक तनातनी खत्म नहीं हुआ है। ताजे मामले में अमेरिकी वाणिज्य विभाग ने सोमवार को घोषणा की है कि उसने उइगर अल्पसंख्यकों  के खिलाफ मानवाधिकारों के उल्लंघन में शामिल होने के चलते चीन की 11 कंपनियों को ब्लैकलिस्ट कर दिया है। इन कंपनियों तक अब अमेरिकी सामानों की पहुंच नहीं होगी। वाशिंगटन ने अन्य पश्चिमी देशों और अधिकार समूहों के साथ मिलकर बीजिंग पर पश्चिमी शिनजियांग क्षेत्र में उइगर जातीय समूह से कम से कम दस लाख मुसलमानों को नजरबंद करने का आरोप लगाया है।वाणिज्य विभाग ने एक बयान में कहा कि 11 प्रतिबंधित कंपनियां मानव अधिकारों के उल्लंघन और चीन गणराज्य के दमनकारी अभियान, जन मनमाना निरोध, जबरन श्रम, बायोमेट्रिक डेटा का अनैच्छिक संग्रह और आनुवांशिक विश्लेषण के कार्यान्वयन कर रही हैं।वाणिज्य विभाग ने नौ कंपनियों चांगजी एस्क्वाल टेक्सटाइल, हेफेई बिटलैंड इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी, हेफेई मेइलिंग, हेटियन हैओलिन हेयर एक्सेसरीज, हेटियन टेडा अपैरल, केटीके ग्रुप, नानजिंग सिनर्जी टेक्सटाइल्स, नानचांग ओ-फिल्म टेक और तान्युआन टेक्नोलॉजी सहित नौ कंपनियों के फोर्स्ड लेबर यानी बालात् श्रम में शामिल होने के लिए प्रतिबंध लगाया। वहीं, वाणिज्य विभाग ने झिंजियांग सिल्क रोड और बीजिंग लिउहे को उइगरों के दमन को आगे बढ़ाते हुए आनुवंशिक विश्लेषण करने के लिए प्रतिबंधित किया है।
 

सम्बंधित ख़बरें