ऑटो इण्डस्ट्रीज पर भी कोरोना वायरस का असर

ऑटो इण्डस्ट्रीज पर भी कोरोना वायरस का असर

बीजिंग (महामीडिया) चीन से शुरू हुए कोरोना वायरस का कहर अब भारत समेत दुनियाभर में फैल चुका है। इस वायरस की वजह से लोगों की जान जा रही है तो अलग- अलग इंडस्‍ट्री का कारोबार भी प्रभावित हो रहा है। इस वायरस की वजह से दुनिया की सबसे बड़ी कार फैक्‍ट्री बंद हो चुकी है। साउथ कोरिया की हुंडेई ने शुक्रवार को अपने उल्‍सान कॉम्‍पलेक्‍स स्थित प्‍लांट में ऑपरेशन बंद कर दिया है। बैंकॉक पोस्‍ट की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक कोरोना वायरस की वजह से कंपनी को जरूरी पार्ट्स नहीं मिल पा रहे हैं। पार्ट्स चीन से आते हैं और इसकी वजह से हुंडेई को खासा नुकसान उठाना पड़ रहा है।
हुंडेई के उल्‍सान प्‍लांट में साल भर में 14 लाख गाड़‍ियों को तैयार कर सकता है। यहां पर जरूरी पार्ट्स का आयात करके फिर कार को तैयार करके उन्‍हें दुनिया के बाकी हिस्‍सों में निर्यात किया जाता है। पार्ट्स की सप्‍लाई के लिए कंपनी को बड़े स्‍तर पर चीन पर निर्भर रहना पड़ता है। कोरोना वायरस की वजह से चीन में कई फैक्ट्रियों पर ताला लग गया है। इसकी वजह से कंपनी को खासा नुकसान झेलना पड़ रहा है। इसका नतीजा है कि हुंडेई को प्‍लांट को बंद करने का कठोर फैसला लेना पड़ा है। हुंडेई की कार किया को हाल ही में दुनिया का पांचवां सबसे बड़ा कार मैन्‍युफैक्‍चरर घोषित किया गया है। इस कार को तैयार करने वाली किया मोटर्स को मुश्किल हालातों से गुजरने को मजबूर होना पड़ रहा है। किया को वायरिंग की दिक्‍कतों का सामना करना पड़ रहा है। वायरिंग कार के कॉम्‍प्‍लेक्‍स इलेक्‍ट्रॉनिक्‍स को आपस में जोड़ने का काम करती है।

सम्बंधित ख़बरें