भारत सरकार की चीनी कंपनियों के घरेलू बाजार और कंपनियों में निवेश पर कड़ी नजर 

भारत सरकार की चीनी कंपनियों के घरेलू बाजार और कंपनियों में निवेश पर कड़ी नजर 

नई दिल्ली (महामीडिया) चीन के साथ जारी तनाव के बीच भारत चीनी कंपनियों के घरेलू बाजार और कंपनियों में निवेश पर कड़ी नजर रख रहा है। जानकारी के अनुसार, भारत सरकार फिलहाल चीन की कंपनियों के 50 निवेश प्रस्तावों की नए कानून के तहत समीक्षा कर रही है।
अप्रैल में जारी हुए इन नए नियमों के मुताबिक भारत के पड़ोसी देशों के निवेशकों को भारत में निवेश के लिए सरकार से मंजूरी लेनी होगी। ये नियम नए निवेश या फिर पहले से जारी प्रोजेक्ट में अतिरिक्त निवेश दोनो पर ही लागू होंगे। भारत के पड़ोसी राज्यों में से चीन ही भारत में सबसे बड़ा निवेशक है। नए नियमों के दायरे में चीन, पाकिस्तान, बांग्लादेश, नेपाल, अफगानिस्तान शामिल हैं।
वहीं भारत सरकार के मुताबिक ये नियम पड़ोसी देशों द्वारा किसी भी अवसरवादी कदम को रोकने के लिए बनाए गए हैं। सूत्रों के मुताबिक महामारी के बीच घरेलू कंपनियों की आर्थिक स्थिति बिगड़ने से उन पर जबरन कब्जे का जोखिम बढ़ गया है जिससे निपटने के लिए निवेश की समीक्षा जरूरी हो गई है।
 

सम्बंधित ख़बरें