ब्रिटेन में जापान की एनईसी और फिजित्सु का मार्ग प्रशस्त होगा

ब्रिटेन में जापान की एनईसी और फिजित्सु का मार्ग प्रशस्त होगा

नईदिल्‍ली  [ महामीडिया ]ब्रिटेन ने जापान से अपने 5जी वायरलेस नेटवर्क को स्थापित करने में मदद करने के लिए कहा है। दरअसल, एक हफ्ते पहले ब्रिटिश सरकार ने चीनी की तकनीक दिग्गज कंपनी Huawei को नेटवर्क के उपकरण की आपूर्ति करने से प्रतिबंधित कर दिया था। ब्रिटेन ने पिछले मंगलवार को Huawei पर इस साल के अंत से शुरू होने वाले नेटवर्क के लिए उपकरणों की आपूर्ति पर प्रतिबंध लगाने का फैसला किया था। साथ ही 2027 तक कंपनी के सभी उपकरणों को 5जी नेटवर्क से हटाने की बात कही थी।ब्रिटिश अधिकारियों ने टोक्यो में अपने समकक्षों से कहा कि जापानी प्रौद्योगिकी कंपनियां NEC और Fujitsu आपूर्तिकर्ताओं के रूप में Huawei को प्रतिस्थापित कर सकती हैं। उन्होंने नेटवर्क की तकनीक और लागत-दक्षता बढ़ाने के लिए जापान की मदद मांगी है। जापानी कंपनियों ने स्वीडन की एरिक्सन और फिनलैंड की नोकिया जैसी अन्य टेलीकॉम कंपनियों के साथ प्रतिस्पर्धा करने का लक्ष्य रखा है, ताकि कम लागत वाले उत्पादों के विकास को बढ़ावा दिया जा सके।वाशिंगटन पहले से ही राष्ट्रीय सुरक्षा चिंताओं का हवाला देते हुए दुनिया भर के नेटवर्क से Huawei पर प्रतिबंध लगाने के अभियान का नेतृत्व कर रहा है। हालांकि, चीनी तकनीकी दिग्गज कंपनी Huawei ने उन रिपोर्टों का खंडन किया है, जो इसे किसी भी देश की सुरक्षा के लिए खतरा मानते हैं।प्रतिबंध की घोषणा के तुरंत बाद, ब्रिटिश सरकार के अधिकारियों ने गुरुवार को जापानी सरकारी निकायों के प्रतिनिधियों से मुलाकात कर सहयोग की मांग की। बताते चलें कि जापान ने भी 5G तकनीक विकसित करने में ब्रिटिश कंपनियों के साथ सहयोग करने की आवश्यकता को भी स्वीकार किया।

सम्बंधित ख़बरें