प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जल्द ही नामी विदेशी फंडों से बात करेंगे 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जल्द ही नामी विदेशी फंडों से बात करेंगे 

नईदिल्ली [महामीडिया ]  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पूंजी की कमी से जूझ रहे ढांचागत क्षेत्र में निवेश को बढ़ावा देने के लिए नामी विदेशी फंडों से बात करेंगे। इस संबंध में प्रधानमंत्री जल्द ही एक नई पहल करने वाले हैं। इसके तहत मोदी दीर्घ अवधि की विदेशी पूंजी आकर्षित करने के लिए आवश्यक सुधारों पर चर्चा के लिए 15 अग्रणी विदेशी फंडों के साथ बातचीत करेंगे।प्रधानमंत्री की पहल ऐसे समय में महत्त्वपूर्ण हो जाती है जब कोविड महामारी की वजह से देश में पूंजीगत व्यय में खासी कमी आई है। आर्थिक गतिविधियां सुस्त होने के बाद कंपनियां नई परियोजनाएं आगे नहीं बढ़ा रही हैं। सरकार को लगता है कि विदेशी फंडों से मिलने वाली पूंजी देश में आर्थिक गतिविधियों को तेजी देने में इस्तेमाल की जा सकती है।भारतीय उद्योग परिसंघ के एक कार्यक्रम में आर्थिक मामलों के विभाग के सचिव तरुण बजाज ने कहा, 'दुनिया भर के फंड हमारे संपर्क में हैं। वे हमसे निवेश के लिए परियोजनाएं देने के लिए कह रहे हैं और वे अपने निवेश पर अधिक प्रतिफल भी नहीं चाहते हैं। प्रधानमंत्री जल्द ही दुनिया की 15 फंड कंपनियों के साथ बातचीत करेंगे और उनके विचार जानने की कोशिश करेंगे।'विशेषज्ञों का कहना है कि यह एक सकारात्मक पहल है और मौजूदा समय में इसकी अहमियत और बढ़ जाती है। फंड प्रबधंक भी चीन से जुड़ी विभिन्न चिंता के कारण प्रधानमंत्री के साथ प्रस्तावित बैठक को एक अवसर के रूप में देख रहे हैं। एसोसिएशन ऑफ म्युचुअल फंड्स इन इंडिया के चेयरमैन नीलेश शाह ने कहा, 'जब स्वयं प्रधानमंत्री निवेशकों से मुखातिब होते हैं तो इससे यह संकेत मिलता है कि विषय को कितनी अहमियत दी जा रही है। इतना ही नहीं, इससे देश में निवेश को लेकर बाहरी निवेशकों के मन में चिंताएं भी कम जाती हैं।'
 

सम्बंधित ख़बरें