दीवान हाउसिंग फाईनेंस में तेरह हजार करोड़ की हेराफेरी

दीवान हाउसिंग फाईनेंस में तेरह हजार करोड़ की हेराफेरी

नई दिल्ली [ महामीडिया ] कर्ज संकट से जूझ रही दीवान हाउसिंग फाईनेंस ने 12,773 करोड़ रुपये के ऋण अपने प्रवर्तकों से कथित तौर पर जुड़ी 90 फर्जी कंपनियों को अवैध तरीके से स्थानांतरित किए थे। प्रवर्तन निदेशालय  के अनुसार कंपनी ने 2010 और 2015 के बीच खुदरा ऋण की आड़ में करीब 1 लाख फर्जी ग्राहकों के नाम पर इस रकम की हेराफेरी की थी। धन शोधन मामले में इस सप्ताह के शुरू में वधावन को गिरफ्तार किया था। इस जांच एजेंसी ने अपनी जांच रिपोर्ट में कहा,'यह एक ऐसा फर्जीवाड़ा लग रहा है, जिसके व्यापक परिणाम हो सकते हैं। अब तक शुरुआती जांच में पता चला है कि 12,700 करोड़ रुपये से अधिक रकम की हेराफेरी हुई है और यह पूरी साजिश कपिल वधावन ने रची थी।' रिपोर्ट में कहा गया है कि और अधिक सबूत, दस्तावजे आदि जुटाने के लिए छापेमारी चल रही है और ऐसी आशंका है कि फर्जीवाड़ा काफी बड़ा हो सकता है। 

सम्बंधित ख़बरें