सावन मास: घर पर ही करें महादेव की पूजा

भोपाल (महामीडिया) आज से यानि 6 जुलाई से सावन का महीना शुरू हो गया हैl आज शिव भक्त पूजा करने में जुटे हैंl सावन महीना महादेव का पसंदीदा महीना हैI शास्त्रों में ऐसा उल्लेख है कि सोमवार के दिन भगवान शिव की आराधना करने पर वे जल्द ही प्रसन्न हो जाते हैंl  सोमवार के दिन व्रत रखने से  शिव जी अपने भक्तों पर विशेष कृपा करते हैंI इसीलिए सावन का पूरा महीना भगवान शिव की भक्ति के लिए समर्पित होता हैI
ऐसी मान्यता है कि सावन में सोमवार का व्रत रखने से दांपत्य जीवन खुशियों से भर जाता हैI  घर के कलह का नाश होता हैl रोगों से मुक्ति मिलती है और पति और पत्नी के संबंधों में मधुरता बढ़ती हैI
इस बारI श्रावण मास में सालों बाद ये अदभुत संयोग है जब सावन महीने में पांच सोमवार पड़ रहे हैंI ज्योतिष मान्यता के अनुसार, इस बार पांच सोमवार इसलिए भी अहम है क्योंकि वेद पुराणों में भगवान शिव के भी पांच मुख का वर्णन हैI  मनुष्य के शरीर का निर्माण भी पंच महाभूतों से हुआ है, इसलिए सावन मास में इन पांचों सोमवार को शिव की आराधना करने से सभी के मनोरथ पूर्ण होते हैंI इस बार सावन महीने की शुरुवात ही सोमवार के दिन से हो रही है l सावन माह की समाप्ति भी सोमवार के दिन ही हो रही हैl सावन महीने की शुरुआत और समाप्ति दोनों ही सोमवार के दिन हो रहा हैI
सावन में शिवलिंग पर दूध चढ़ाते हैंI दूध बेलपत्र और धतुरा चढाने का बहुत महत्व होता हैl चूंकि सावन माह में लगातार बारिश होती हैI इस कारण कई तरह के छोटे-छोटे जीवों की उत्पत्ति होती हैI कई प्रकार की विषैली नई घास और वनस्पतियां उगती हैंI जब दूध देने वाले पशु इन घासों को और वनस्तपतियों को खाते हैं तो पशुओं का दूध ही विष के सामान हो जाता हैI ऐसा कच्चा दूध पीने से हमारे स्वास्थ्य को नुकसान हो सकता हैI इसीलिए इस माह में कच्चे दूध के सेवन से बचना चाहिएl शिवजी ने विषपान किया था, इस कारण सावन माह में शिवलिंग का दूध से अभिषेक किया जाता हैI
कोरोना वायरस के कारण भिड़-भाड़ वाली जगहों पर जाने से मनाही हैI प्रशासन के निर्देशों का पालन करेंl  जो लोग शिवालय नहीं जा सकते, वे अपने घर में ही शिवलिंग का अभिषेक और पूजन कर सकते हैंI जिसके घर पर शिवलिंग न हो, वह आंगन में लगे किसी पौधे को शिवलिंग मानकर या मिट्टी का शिवलिंग बनाकर उसका पूजन कर सकते हैंI मिट्टी से शिवलिंग बनाकर पूजन करने को ही पार्थिव शिवपूजन कहा जाता हैI ये पूजा शुभ फल देने वाली मानी जाती हैI सहज तरीके से की गई पूजा भी शिव जी को मान्य होती हैl  घर पर पूजा करते समय शिवलिंग पर जल चढ़ाएं I पंचामृत से अभिषेक करें और ऊँ नम: शिवाय,  ऊँ रुद्राय नम या महामृत्युंजय मंत्र आदि मंत्रों का जाप करें I इससे आपको असीम आनंद और सुख की प्राप्ति होगीl
हर हर महादेव!
 

- प्रभाकर पुरंदरे

अन्य संपादकीय