ब्रज के द्वारिकाधीश मंदिर में एक महीने का फागोत्सव शुरू

ब्रज के द्वारिकाधीश मंदिर में एक महीने का फागोत्सव शुरू

आगरा  [ महामीडिया ]  राजधिराज ठाकुर द्वारिकाधीश मंदिर के आंगन में सोमवार से रसिया की तान छिड़ गई है। श्याम- श्यामा की होली लीला को जीवंत कर रहे श्रद्धालु रसिया की तान पर झूमने लगे। अबीर- गुलाल ने वातावरण को सतरंगी बना दिया। होली के रंग ऐसे बिखरे की कोई भी इनमें भिगे बिना नहीं रह सका। श्रद्धालु एक-दूसरे का हाथ पकड़कर होली की मस्ती में झूमने लगे।द्वारकाधीश मंदिर में सोमवार फाल्‍गुन माह की प्रतिपदा से रसिया गायन का कार्यक्रम प्रारंभ हो गया। देश- विदेश से आए श्रद्धालुओं ने रसिया गायन का आनंद लिया। आज ब्रज में होरी रे रसिया, होली खेलन आए हैं नटवर नंद किशोर, ओ मेरे रसिया, मन बसिसा रसियाओं पर श्रद्धालु भक्ति भाव में विभोर होकर होली के रंग में रंग गए।  भक्त भी ठाकुरजी के आंगन में नृत्य कर अपने आराध्य को रिझाने का भरपूर प्रास कर रहे थे। झांझ-मजीरा की धुन कर्ण प्रिय थीं। श्रद्धालु ठाकुरजी के दर्शन कर होली के रसिया का आनंद ले रहे थे। एक-दूसरे को अबीर -गुलाल लगाकर ब्रज की होली में डूब गए।आज से ब्रज में एक महीने तक चलने वाले फाग महोत्सव की शुरुआत हो गई है। मथुरा के प्रसिद्ध द्वारिकाधीश मंदिर में आज ढोल की थाप के साथ फागोत्सव शुरू हुआ। वैसे तो ब्रजमंडल में वसंत पंचमी से होरी प्रारंभ हो जाती है, लेकिन पुष्टिमार्गीय संप्रदाय में पूर्णिमा के दिन होरी का डांढ़ा गढ़ता है और पड़वा के दिन से रसिया गायन प्रारंभ होते हैं। रंग भरनी एकादशी और त्रयोदशी के दिन ठाकुरजी का बगीचा और पड़वा के दिन होली महोत्सव महोत्सव आयोजित होता है।
 

सम्बंधित ख़बरें