अफ्रीकी चीतों को मध्य प्रदेश लाया जायेगा  

अफ्रीकी चीतों को मध्य प्रदेश लाया जायेगा  

भोपाल (महामीडिया) लंबी प्रतिक्षा के बाद अफ्रीकी चीतों को मध्य प्रदेश लाया जाना लगभग तय हो गया है। इन चीतों के पुनर्वास के लिए केंद्र सरकार ने राष्ट्रीय बाघ संरक्षण प्राधिकरण की एक टीम मध्य प्रदेश भेजी है। यह जानकारी वन मंत्री विजय शाह ने दी। शाह ने कहा कि कूनो या बांधवगढ़ में जल्दी ही अफ्रीकी चीते देखने को मिल सकते हैं।सुप्रीम कोर्ट अफ्रीकी चीतों को भारत लाने की अनुमति फरवरी 2020 में राष्ट्रीय बाघ संरक्षण प्राधिकरण का दे चुका है। सुप्रीम कोर्ट ने निर्देश दिए थे कि इन चीतों को अनुकूल वन क्षेत्र में ही रखा जाए। पूर्व में केंद्र सरकार ने अफ्रीकी चीतों के लिए देश में तीन स्थान चिन्हित किए थे। इसमें दो स्थान (कूनो-पालपुर और नौरादेही सेंचुरी) मप्र के हैं, जबकि एक सेंचुरी राजस्थान की है। कूनो-पालपुर और नौरादेही को शॉर्टलिस्ट केंद्र सरकार ने किया था। यदि सरकार पूर्व में चिन्हित किए गए इन स्थान को प्राथमिकता देती है तो मप्र में ये चीते बसाए जा सकते हैं। कूनो-पालपुर में इनके लिए अनुकूल वातावरण तैयार किया जा चुका है। हालांकि वन मंत्री ने कहा है कि बांधवगढ़ में भी इसको लेकर वैकल्पिक तैयारी की जा रही है। उन्होंने बताया कि कूनो पालपुर और नौरादेही सेंचुरी में हिरणों को शिफ्ट किया जा रहा है।


 

सम्बंधित ख़बरें