मप्र पर्यटन विभाग के होटलों में मिलेंगे कोदो कुटकी के व्यंजन

मप्र पर्यटन विभाग के होटलों में मिलेंगे कोदो कुटकी के व्यंजन

भोपाल (महामीडिया) आदिवासियों को आत्मनिर्भर बनाने और कम पानी वाली फसलों को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से मुख्यमंत्री कमलनाथ ने पर्यटन विभाग के होटलों के मेन्यू में कोदो-कुटकी के व्यंजन शामिल करने के निर्देश दिए हैं। सीएम ने दोनों फसलों का उत्पादन बढ़ाने और उनकी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ब्रांडिंग करने को कहा है। वे मंगलवार को मंत्रालय में मिलेट मिशन की कार्ययोजना की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने इनके बिक्री केंद्र भी अनिवार्य रूप से शुरू करने को कहा है।
नाथ ने कहा कि आदिवासी इलाकों में पैदा होने वाली कोदो-कुटकी, ज्वार-बाजरा और मक्का की पैदावार के लिए नीति बनाएं। इसके लिए किसानों को प्रेरित करें। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्यवर्धक फसल होने के कारण अंतरराष्ट्रीय स्तर पर इसकी मांग है। सीएम ने पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग को निजी क्षेत्र के सहयोग से रणनीति तैयार करने को कहा। मुख्यमंत्री ने कोदो-कुटकी का बोवनी क्षेत्र डेढ़ गुना बढ़ाने के लिए आदिवासी किसानों से 50 फीसदी तक इन प्रजातियों के बीज बुवाई करवाने को कहा। इससे किसान की आय में 20 से 25 फीसदी की वृद्धि की जा सकती है।

सम्बंधित ख़बरें