कुटीर एवं ग्रामोद्योग मंत्री यादव ने किसानों को सम्मान पत्र प्रदान किए

कुटीर एवं ग्रामोद्योग मंत्री यादव ने किसानों को सम्मान पत्र प्रदान किए

सागर  [महामीडिया] जय किसान फसल ऋण माफी योजना का द्वितीय चरण मध्यप्रदेश शासन ने शुरु किया है, जिसमें 50 हजार से लेकर 1 लाख तक के पी.ए. खातों का ऋण माफ किए जा रहे है। इसी क्रम में सागर जिले के देवरी तहसील के किला मैदान में आयोजित जय किसान फसल ऋण माफी कार्यक्रम प्रदेष के कुटीर एवं ग्रामोद्योग, नवीन तथा नवकरणीय उर्जा विभाग मंत्री  हर्ष यादव के मुख्य आतिथ्य में संपन्न हुआ। जिसमें देवरी तहसील के 2225 किसानों के 16 करोड़ रूपये का फसल ऋण माफ किए गए। कार्यक्रम में मंच से 10 किसानों को किसान सम्मान पत्र अतिथियों द्वारा पदाय किए गए। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री आवास मिषन योजना अंतर्गत 10 हितग्राहियों को गृह प्रवेष के प्रमाण पत्र भी दिए गए । इस जनपद पंचायत की अध्यक्ष सुश्री अंचल आठ्या, विजय गुरूजी, अनंतराम रजक, संजय बृजपुरिया, कलेक्टर श्रीमती प्रीति मैथिल नायक, उप संचालक कृषि एके नेमा, बड़ी संख्या में किसान मौजूद थे।  कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मंत्री यादव ने कहा कि सरकार ने अपने वचन पत्र में जनता से जो वादे किए थे, उन्हें पूरा किया जा रहा है। मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ चाहते है कि प्रदेष का किसान आर्थिक रूप से मजबूत बने। इस दिषा में लगातार प्रयास किए जा रहे है। उन्होंने जानकारी दी कि देवरी और सागर में दुनिया का सबसे बड़ा सौलर प्लांट बनाया जाएगा। सौलर प्लांट की क्षमता 2000 मेगावाट होगी। इससे देष-पदेष ही नहीं दुनिया के नक्षे पर देवरी और सागर का नाम होगा। उन्होंने कहा कि इससे यहां के युवाओं को रोजगार के अवसर मिलेंगे। सरकार ने आम लोगों को राहत देने के उददेष्य से इंदिरा गृह ज्योति योजना लागू की है। इससे 100 रूपये में 100 यूनिट बिजली मिल रही है। इसका लाभ सवा करोड़ से अधिक उपभोक्ताओं को मिल रहा है। इसी प्रकार किसानों के लिए आधी दर पर सिंचाई के लिए बिजली दी जा रही है। उन्होंने कहा कि किसान भाई सौलर पंप लगाकर भी लाभ उठा सकते है। क्षेत्र के लिए अधिक से अधिक सौलर पंप स्वीकृत किए जाएंगे। खादी ग्रामोद्योग विभाग अंतर्गत प्रषिक्षण केन्द्र खोले जा रहे है। मुख्यमंत्री कन्यादान योजना अंतर्गत दी जाने वाली राषि 28 हजार से बढ़ाकर 51 हजार कर दी है। सरकार ने सामाजिक सुरक्षा पेंषन कल्याणी, निराश्रित, वृद्ध के लिए दी जाने वाली पेंषन 300 से बढ़ाकर 600 रूपये कर दी है। इसे आगामी एक अपै्रल से बढ़ाकर 1000 रूपये करने की योजना है। उन्होंने बताया कि क्षेत्र में 132 केवी का सब स्टेषन बनेगा। जिससे विद्युत बोल्टेज की समस्या नहीं रहेगी।कलेक्टर श्रीमती प्रीति मैथिल नायक ने कार्यक्रम में कहा कि किसान  फसलों की विविधीकरण को अपनाएं। जिससे यदि कभी एक फसल कमजोर होती है तो दुसरी फसल उसकी भरपाई कर सके। उन्होंने किसानां से फसलों की उन्नत बीज, कृषि तकनीकी, कृषि यंत्र अपनाने पर भी जोर दिया। उन्होंने बताया कि सागर जिले में प्रथम चरण में 50 हजार 886 किसानों के 156 करोड़ रूपए माफ किए गए और द्वितीय चरण में 22 हजार किसानों के 158 करोड़ इस प्रकार कुल 314 करोड़ के ऋण माफी का लाभ किसानों को मिला है।  कार्यक्रम के प्रारंभ में उप संचालक किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग एके नेमा ने जय किसान फसल ऋण माफी योजना के विषय में विस्तार से जानकारी दी। कार्यक्रम के अंत में सभी का आभार सुश्री आंचल आठया ने व्यक्त किए।

सम्बंधित ख़बरें