सीबीएसई की 10वीं- 12वीं में 50 फीसदी सिलेबस कम करने को लेकर अभी तक कोई फैसला नहीं

सीबीएसई की 10वीं- 12वीं में 50 फीसदी सिलेबस कम करने को लेकर अभी तक कोई फैसला नहीं

नई दिल्ली (महामीडिया) सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन की 10वीं- 12वीं में 50 फीसदी सिलेबस कम नहीं किया जाएगा। सिलेबस को 50 फीसदी कम करने को लेकर बोर्ड की ओर से अभी तक कोई फैसला नहीं किया गया है। फिलहाल, बोर्ड ने सभी स्कूलों से सिलेबस को लेकर राय मांगी गई है। सीबीएसई इससे पहले ने लॉकडाउन के बच्चों की पढ़ाई के नुकसान को देखते हुए जुलाई में सीबीएसई ने पाठ्यक्रम में 30 फीसदी की कटौती करने की घोषणा की थी।बोर्ड ने 10वीं- 12वीं बोर्ड परीक्षाओं के लिए बचे हुए 70 फीसदी पाठ्यक्रम के साथ सैंपल क्वेश्चन पेपर भी जारी किया है। स्टूडेंट्स ऑफिशियल वेबसाइट के जरिए 10वीं- 12वीं के सभी विषयों के सैंपल क्वेश्चन पेपर डाउनलोड कर सकते हैं। 12वीं में भौतिकी, रसायन शास्त्र, गणित, राजनीति शास्त्र, अकाउंटेंसी और अर्थशास्त्र के सिलेबस को और दसवीं में सोशल साइंस, गणित और सामाजिक विज्ञान के सिलेबस को और कम किया जा सकता है।सीबीएसई ने 10वीं वार्षिक परीक्षा 2021 के क्वेश्चन पेपर पैटर्न में कई बदलाव किए हैं। मैथ्स से मल्टीपल च्वाइस क्वेश्चन  को हटा दिया गया है। स्टूडेंट्स को अब एक मार्क के सवाल का जवाब बहुत कम शब्दों में देना होगा। वहीं, साइंस में दो मार्क्स के क्वेश्चन को हटा दिया गया है। अब सिर्फ एक, तीन और पांच मार्क्स के क्वेश्चन पूछे जाएंगे।सामाजिक विज्ञान में भी विकल्प वाले प्रश्नों की जगह सिर्फ वेरी शॉट क्वेश्चन रहेंगे। इससे पहले बोर्ड ने 12वीं के क्वेश्चन पेपर पैटर्न में भी बदलाव किया है। यह बदलाव लॉकडाउन में स्टूडेंट्स की तैयारी ठीक से नहीं होने के कारण किए गए हैं। अब वेरी शॉट क्वेश्चन की संख्या भी 20 से घटाकर 16 कर दी गई है। साइंस में छह क्वेश्चन बढ़ाए गए हैं, तो मैथ्स में चार क्वेश्चन कम पूछे जाएंगे।बोर्ड ने पहली बार 12वीं के क्वेश्चन पेपर पैटर्न पर 10वीं का क्वेश्चन पेपर बनाया है। इससे मैथ्स पढ़ने वाले स्टूडेंट्स को प्लस टू में आसानी होगी। 

सम्बंधित ख़बरें