प्रयागराज को माघ मेले की गाइड लाइन का इंतजार

प्रयागराज को माघ मेले की गाइड लाइन का इंतजार

प्रयागराज [महामीडिया] मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री की ओर से माघ मेले के आयोजन के आश्वासन के बाद अब नई गाइड लाइन का प्रयागराज को इंतजार है। कोरोना काल में माघ मेला कैसे होगा और कल्पवासियों को कैसे रखा जाएगा, इसे लेकर न सिर्फ तीर्थ पुरोहितों में जिज्ञासा है बल्कि संगम की रेती पर हर साल देशभर से आने वाले यजमान भी इसे लेकर परेशान हैं। 
तीर्थ पुरोहितों के पास उनके यजमानों ने फोन कर इसके बारे में जानकारी करना शुरू कर दिया है, जिसे लेकर तीर्थ पुरोहितों ने शासन को पत्र भेजकर जल्द ही गाइड लाइन जारी करने की मांग उठाई है। माघ मेला 2021 का आयोजन होगा। इस बात का ऐलान खुद उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने ट्वीट करके किया है । उन्होंने अपने ट्वीट में आश्वासन दिया है  कि माघ मेले का कल्पवास एक अनुष्ठान है जिसे भंग नहीं होने दिया जाएगा। इसके बाद से आम लोगों में जिज्ञासा बढ़ गई है। अब तक कोरोना काल को देखते हुए लोग यही मान रहे थे कि इस पर निर्णय शायद अंतिम क्षणों में हो, लेकिन अब आम लोगों को मेले की उम्मीद है। तीर्थ पुरोहित का कहना है कि उनके यहां आने वाले तमाम यजमानों ने इसके बारे में जानकारी शुरू कर दी है। इस बार मेला कहां पर बसाया जाएगा, कितनी दूरी होगी, जैसे तमाम बातों को लोगों ने पूछना शुरू कर दिया है। रोजाना 30 से 40 फोन कॉल केवल इसी बात के लिए आ रही है। वहीं अखिल भारतीय तीर्थ पुरोहित महासभा भी इन सवालों से परेशान है। महासभा के महामंत्री मधु चकहा ने शासन से मांग उठाई है कि नई गाइड लाइन जारी कर दें, जिससे होने वाले आयोजन को लेकर तीर्थ पुरोहितों को पूरी जानकारी रहे और तैयारी के लिए पर्याप्त समय मिल सके। 
 

सम्बंधित ख़बरें