संकष्टी चतुर्थी है आज

संकष्टी चतुर्थी है आज

भोपाल [महामीडिया] आज संकष्टी चतुर्थी है। आज का दिन विघ्नहर्ता गणेश भगवान को समर्पित है। आज के दिन भगवान श्रीगणेश की पूजा की जाती है और उसके बाद रात में चांद की पूजा होती है और उन्हें अर्ध्य दिया जाता है। यह सभी चतुर्थियों में सबसे शुभ मानी जाती है। इस पूजा को करने के बाद इंसान का हर कष्ट दूर हो जाता है। प्रमुख रूप से व्रत माएं अपनी संतानों के लिए रखती हैं, जिससे कि उनके बच्चों पर हमेशा बप्पा की कृपा बरसती रहें और उन पर कोई संकट ना आए और लंबी आयु, सुख, धन और उन्नति प्राप्त करें। शास्त्रों में इस व्रत को सर्वबाधा निवारण व्रत कहा गया है।
पूजा का शुभ मुहूर्त 
संकष्टी के दिन चंद्रोदय - 9:40 PM 
चन्द्रास्त - 01 अप्रैल 8:44 AM
पूजा विधि और महत्व
सबसे पहले नहा-धोकर, साफ कपड़े पहनकर गणेश जी की पूजा करें और अपने सामर्थ्य के हिसाब से उनका श्रृंगार करें और उन्हें भोग लगाएं। उसके बाद चंद्रमा की पूजा करें और उन्हें अर्ध्य दें। अगर बिना पानी के व्रत कर सकें तो निर्जला व्रत करें और नहीं तो ये व्रत फलाहार खाकर भी रखा जाता है। सभी गृहस्थों को जीवन में कम से कम एक बार संकट चतुर्थी व्रत अवश्य करना चाहिए। इससे जीवन में कोई बाधा नहीं आती। सुख-सौभाग्य में वृद्धि होती है। किसी विशेष कामना की पूर्ति के लिए संकट चतुर्थी व्रत का संकल्प लेकर इसे पूर्ण करना चाहिए। इससे कामना अवश्य पूरी होती है।
 

सम्बंधित ख़बरें