नई शिक्षा नीति में स्कूली बच्चों को पौष्टिक नाश्ता देने का विचार स्वागत योग्य- उपराष्ट्रपति नायडू

नई शिक्षा नीति में स्कूली बच्चों को पौष्टिक नाश्ता देने का विचार स्वागत योग्य- उपराष्ट्रपति नायडू

चेन्नई [ महामीडिया ]|उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने शुक्रवार को कहा कि केंद्र सरकार ने स्वास्थ्य और पोषण को सर्वोच्च प्राथमिकता दी है। नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 में स्कूली बच्चों को पौष्टिक नाश्ता मुहैया कराने की घोषणा स्वागत योग्य कदम है। नायडू ने कहा कि हाल ही में घोषित शिक्षा नीति में स्कूली बच्चों को पौष्टिक नाश्ता प्रदान करने का प्रावधान है।वह यहां एक डिजिटल विमर्श कार्यक्रम का उद्घाटन कर रहे थे। कार्यक्रम का विषय ''पौष्टिक भोजन के लिए विज्ञान, पोषण और आजीविका था।उपराष्ट्रपति ने कहा कि खाद्य, कृषि और व्यापार नीतियों की लगातार समीक्षा की जानी चाहिए और उन्हें समय के अनुसार अद्यतन करना चाहिए। प्रोफेसर स्वामीनाथन को कृषि का "एन्साइक्लोपीडिया बताते हुए उपराष्ट्रपति ने कहा कि यह खुशी की बात है कि स्वामीनाथन द्वारा स्थापित फाउंडेशन का मकसद समुदायों के जीवन और आजीविका में सुधार के लिए कृषि और ग्रामीण विकास में आधुनिक विज्ञान और प्रौद्योगिकी के उपयोग को बढ़ावा देना है। 
-

सम्बंधित ख़बरें