सर्वार्थ सिद्घि योग में मनेगी इस बार श्रीकृष्ण जन्माष्टमी

सर्वार्थ सिद्घि योग में मनेगी इस बार श्रीकृष्ण जन्माष्टमी

भोपाल [ महामीडिया ]कोरोना संक्रमण काल के दौरान 12 अगस्त को चार विशेष संयोगों में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का पर्व मनाया जाएगा। इस दिन सर्वार्थ सिद्घि योग बनने से पर्व की और महत्ता बढ़ जाएगी। सामाजिक समितियों ने तय किया है कि इस वर्ष दही हांडी फोड़ने के लिए सार्वजनिक कार्यक्रम नहीं होंगे। मंदिरों में पुजारी ही पूजा करेंगे। शहर के श्रीलक्ष्मी नारायण मंदिर, करुणाधाम आश्रम लक्ष्मी मंदिर, छोटी तलैया स्थित श्रीराधा कृष्ण मंदिर, मारवाड़ी रोड श्री बांके बिहारी मंदिर, चौक बाजार स्थित श्रीकृष्ण मंदिर समेत अन्य मंदिरों में विशेष अनुष्ठान होंगे। मंदिरों में सीमित संख्या में श्रद्घालुओं को ही प्रवेश मिलेगा।पंडितों के अनुसार इस साल श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर 12 अगस्त को चार विशेष संयोगों का योग बन रहा है। पांच हजार साल पहले भगवान श्रीकृष्ण का जन्म अष्टमी बुधवार के दिन हुआ था। वही संयोग इस बार 12 अगस्त दिन बुधवार को जन्माष्टमी के दिन बन रहा है। इसके अलावा सर्वार्थ सिद्घि योग भी रहेगा। पंडित ने बताया कि सर्वार्थ सिद्घि योग में होने से भक्तों की मनोकामना पूरी होगी। इसके अलावा सूर्य और चंद्रमा ग्रह भी उच्च राशि में होने से कोरोना संक्रमण का असर भी कम होने लगेगा।इस बार कोरोना संक्रमण का असर श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर भी दिखाई देगा। राजधानी के अधिकांश मंदिरों में हर साल होने वाले सामूहिक कार्यक्रम इस बार नहीं होंगे। प्रसिद्घ गुफा मंदिर, श्रीलक्ष्मी नारायण मंदिर, करुणाधाम श्री राधा कृष्ण मंदिर, कालीबड़ी सहित अन्य मंदिरों में धूमधाम से श्रीकृष्ण जन्माष्टमी मनाई जाती है। यहां पर रात 12 बजे भगवान का जन्मोत्सव मनता है। इसमें सैकड़ों श्रद्घालु शामिल होते हैं, लेकिन इस साल कोरोना संक्रमण के चलते ऐसा नहीं होगा। मंदिर में सिर्फ पुजारी, मंदिर समिति व कुछ भक्तों के बीच श्रीकृष्ण जन्मोत्सव मनाया जाएगा।

सम्बंधित ख़बरें