किसान आंदोलन का आज 53 वां दिन 

किसान आंदोलन का आज 53 वां दिन 

नईदिल्ली [ महामीडिया ]   नए कृषि कानून के विरोध में आज किसानों के ‘दिल्ली घेरो’ आंदोलन का 53 वां दिन है। किसान संगठन आज का दिन महिला किसान दिवस के रूप में मना रहे है। कृषि में महिलाओं की अतुलनीय भूमिका और विरोध प्रदर्शन और हर क्षेत्र में महिलाओं का सम्मान करने के उद्देश्य से कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। आज आंदोलन में शामिल महिलाएं ही मंच का प्रबंधन और संचालन का जिम्मा संभालेगी।किसान आंदोलन में महिलाएं दो तरह से अपनी भागीदारी कर रही है एक तो वह खुद आंदोलन में शामिल है वहीं आंदोलन में शामिल किसानों की गांव से गैर मौजदूगी में महिलाएं ही खेती-किसानी का पूरा जिम्मा संभाल रही है। महिलाएं किसान आंदोलन में हर रूप और हर स्तर पर शामिल हैं जैसे भाषण देना, व्यवस्था देखना,बैठकें, दवाई, रसोई के साथ अलग-अलग हिस्सों में सैकड़ों धरना स्थलों का प्रबंधन महिलाएं देख रही है।हाल में आंदोलन में शामिल महिलाओं पर सुप्रीमकोर्ट की टिप्पणी के बाद‌ आज का दिन आंदोलन में शामिल महिलाओं की भूमिकाओं को रेखाकिंत करने के लिए एक प्रतीकात्मक रूप में मनाया जा रहा है। आज आंदोलन के सभी‌ मोर्चों की कमान महिलाओं ‌के हाथ में रहेगी। सभी मोर्चों पर महिलाएं ही मंच को संभालेगी और आंदोलन को संबोधित करेगी।
 

सम्बंधित ख़बरें