आज विश्वकर्मा जयंती है

आज विश्वकर्मा जयंती है

भोपाल (महामीडिया) आज विश्वकर्मा पूजा है रोजगार आदि में वृद्धि लाने के लिये भगवान विश्वकर्मा की पूजा की जाती है। कहते हैं कि विश्वकर्मा जी शिल्पकला और वास्तुकला में निपुण थे। इसलिए ही शिल्प और वास्तु के क्षेत्रों से जुड़े लोग विश्वकर्मा जी को अपने गुरु के रूप में पूजते हैं। कहते हैं कि इस दिन ऋषि विश्वकर्मा की पूजा करने से कारोबार में वृद्धि होती है। यह व्यापार में तरक्की के लिए पूजा करने का बहुत शुभ समय माना जाता है। माना जाता है कि इस दिन सही विधि से पूजा की जाए तो शुभ फलों की प्राप्ति होती है। विश्वकर्मा जयंती के दिन फैक्ट्री, शस्त्र, बिजनेस आदि की पूजा की जाती है। 
पौराणिक कथाओं के अनुसार, भगवान विश्वकर्मा ने ही देवताओं के लिए अस्त्रों, शस्त्रों, भवनों और मंदिरों का निर्माण किया था। भगवान विश्वकर्मा ने सृष्टि की रचना में भगवान ब्रह्मा की सहायता की थी। यह पूजा सभी कलाकारों, बुनकर, शिल्पकारों और औद्योगिक घरानों द्वारा की जाती है।
विश्वकर्मा दिवस के दिन पूजा करने से घर और काम नें सुख समृद्धि आती है। इस दिन सबसे पहले कामकाज में उपयोग होने वाली मशीनों को साफ करना चाहिए। फिर स्नान करके भगवान विष्णु के साथ विश्वकर्माजी की प्रतिमा की विधिवत पूजा करनी चाहिए। ऋतुफल, मिष्ठान्न, पंचमेवा, पंचामृत का भोग लगाएं. दीप-धूप आदि जलाकर दोनों देवताओं की आरती उतारें। 
 

सम्बंधित ख़बरें