सर्दियों में शरीर का तापमान संतुलित रखना है जरूरी

सर्दियों में शरीर का तापमान संतुलित रखना है जरूरी

भोपाल (महामीडिया) इस साल कड़ाके की ठंड पड़ रही है। ठंड ने पिछले कई सालों का रिकार्ड तोड़ दिया है। ऐसे में सेहत का ध्‍यान रखना बेहद जरूरी हो जाता है। ज्यादा ठंड से हायपोथर्मिया जैसी खतरनाक स्थिति भी पैदा हो सकती है जिसमें बॉडी का तापमान 35 डिग्री सेल्सियस से कम हो जाता है। इसलिए इस कड़ाके की ठंड में शरीर का तापमान संतुलित रखना अपने आप में एक चुनौती हैं लेकिन कुछ टिप्‍स के चलते आप इस सर्द मौसम में खुद को इस बीमारी से बचा सकते हैं।
लक्षण :
धीरे बोलना, अचानक से नींद आना, कंपकंपी या बाहों और टांगों में जकड़न, शरीर पर नियंत्रण में कमी, प्रतिक्रिया देने में देरी या कमजोर नब्ज जैसे लक्षणों के रूप में दिख सकती है। 
कैसे बचें :
* सर्दी में बाहर जाते समय टोपी, स्कार्फ और दस्तानें जरूर पहनें। 
* मौसम की जानकारी लेते रहें। ज्यादा ठंड और हवा वाले दिनों में घर के अंदर ही रहें या और शरीर को रजाई से गर्म रखें। अगर बाहर जाना पड़े तो गर्म कपड़े पहनें, ताकि शरीर मे गर्मी बनी रहे। अगर बर्फबारी हो रही हो तो वॉटरप्रूफ कोट या जैकेट पहनें। 
* बाहर किकलते समय अपने साथ पूरी तरह से चार्ज किया हुआ मोबाइल फोन ले जाना न भूलें। 
* इस मौसम में सिर पर टोपी पहनना बेहद जरूरी है, क्योंकि सिर के जरिए शरीर में ठंड प्रवेश करता हैं और शरीर का तापमान गड़बड़ा जाता हैं। इसके अलावा हाथों, नाक, पांव और कानों को कड़कड़ाती ठंड में ढंक कर रखें। 
* सर्दी में ढीले-ढाले कपड़ों की कई परतें पहनें। इससे गर्मी परतों में बंद रहेगी। तंग कपड़े न पहनें, इससे रक्त के बहाव में रुकावट हो सकती है। इससे शरीर में गर्मी की कमी होती है।
* इस बात की जानकारी रखें कि आम दुकानों पर मिलने वाली दवाएं हायपोथर्मिया का खतरा बढ़ा सकती हैं। कुछ दवाएं हायपोथर्मिया बढ़ा सकती हैं। इनमें तनाव, अवसाद, थकान की दवाएं शामिल हैं। सर्दी जुकाम की दुकान पर आम मिलने वाली दवाएं भी समस्या पैदा कर सकती हैं। 
* जब तापमान गिर जाए तो सीमित मात्रा में शराब का सेवन करें। शराब के सेवन से भी शरीर की गर्मी की हानि हो सकती है। 
* अपना वजन संतुलित बनाए रखने के लिए आवश्यक भोजन लें। अगर आप उचित आहार नहीं लेंगे तो चमड़ी के नीचे चर्बी कम हो जाएगी। यह चर्बी भी शरीर को गर्म रखने में मदद करती है।
 

सम्बंधित ख़बरें