डायब‍िटीज के ल‍िए रामबाण है हरा धनिया

डायब‍िटीज के ल‍िए रामबाण है हरा धनिया

भोपाल (महामीडिया) हरे धन‍िये की पत्तियां और बीज दोनों ही खाने का स्‍वाद बढ़ाने का काम करता है। खाने में धनिया पत्ती से गार्निश‍िंग न सिर्फ खाने की खूबसूरती बढ़ाती है बल्कि स्‍वाद में बढ़ोत्तरी कर देती हैं। लेकिन क्‍या आप जानते हैं कि धनिया सिर्फ खाने की खूबसूरती और स्‍वाद ही नहीं बढ़ाता बल्‍कि इसका पानी आपके स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बेहद गुणकारी है।
भारतीय रसोई में कई वर्षों में इस्‍तेमाल किया जा रहा धन‍िया डायब‍िटीज जैसी बीमारी के ल‍िए रामबाण की तरह काम करता है। धन‍िया के पानी में पोटैश‍ियम, कैल्‍श्यिम, विटामिन सी और मैग्‍नीशियम भरपूर मात्रा में पाया जाता है और ये सभी तत्‍व बीमारियों को कोसों दूर रखते हैं। धनिये का पानी पीने के ढेरों फायदे हैं।
डायबिटीज के ल‍िए दवा
धनिए को मधुमेह नाशी यानी कि डायबिटीज को दूर भगाने वाला माना जाता है। इसका पानी पीने से खून में इंसुलिन की मात्रा नियंत्रित रहती है। धनिया के पत्तियों या बीज को रातभर पानी में भिगोकर रख दें और सुबह के वक्त इसका पानी पीएं। धनिया में एंटीऑक्सीडेंट होने के कारण वह आपके इम्यून सिस्टम को बढ़ावा देता हैं। नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन में इस बात पर शोध किया गया। इस मे इस बात का पता चला हैं कि, धनिया में इथेनॉल मौजूद होते हैं जो सीरम ग्लूकोज या ब्लड शुगर को कम करने के लिए प्रभावी माना जाता हैं।
वजन कम करने में असरदार 
अगर आप वजन कम करना चाहते हैं तो धनिये के बीज का इस्‍तेमाल करने से फायदा होगा। इसके लिए आप तीन बड़े चम्‍मच धनिये के बीज एक गिलास पानी में उबालें। जब पानी आधे से कम हो जाए तो इसे छान लीजिए। इसे पीने से आपके वजन में कुछ कटौती होने लगेगी।
बढ़ाए डाइजेशन 
हरा धनिया पेट की समस्याओं को दूर कर पाचनशक्ति बढ़ाता है. धनिए के ताजे पत्तों को छाछ में मिलाकर पीने से बदहजमी, मतली, पेचिश और कोलाइटिस में आराम मिलता है।
नकसीर की दवा 
हरे ताजे धनिया की लगभग 20 ग्राम पत्तियों के साथ चुटकी भर कपूर मिला कर पीस लें और रस छान लें। इस रस की दो बूंदें नाक के छेदों में दोनों तरफ टपकाने से और रस को माथे पर लगा कर हल्का-हल्का मलने से नाक से निकलने वाला खून बंद हो जाता है।
 

सम्बंधित ख़बरें