इम्‍युनिटी बूस्‍ट  करता है प्रकृति का एक उपहार शकरकंद 

इम्‍युनिटी बूस्‍ट  करता है प्रकृति का एक उपहार शकरकंद 

भोपाल [ महामीडिया] सर्दियों का मौसम स्वास्थ्य संबंधी जोखिमों से भरा रहता है। फिर चाहें वो सर्दी-जैसी वायरल समस्या हो, या फिर डायबिटीज, हृदय या कैंसर जैसी गंभीर समस्याएं। पर चिंता न करें इन सबसे मुकाबला करने के लिए तैयार करती हैं हमें शकरकंद। प्रकृति ने हमें कुछ ऐसे उपहार दिए हैं, जो हमें कई तरह के स्वास्थ्य संबंधी जोखिमों से सुरक्षित रखने में मदद करते हैं। ऐसा ही प्रकृति का एक उपहार है शकरकंद। जिसका हम सर्दियों के मौसम में खूब सेवन करते हैं। यह एक ऐसा सुपरफूड है जो न सिर्फ सर्दियों में आपके शरीर को गर्म रखने में मदद करता है। बल्कि आपको स्वास्थ्य संबंधी कई गंभीर समस्याओं से राहत पाने में मदद करता है।चूंकि सर्दी का मौसम हैं और हम सभी इन दिनों खुद को सेहतमंद रखना चाहते हैं, तो ऐसे में शकरकंद का सेवन हमारे स्वास्थ्य के लिए बेहद लाभकारी साबित हो सकता है।
पोषक तत्वों से भरपूर है शकरकंद-
 शकरकंद में लगभग वे सभी जरूरी पोषक तत्व मौजूद होते हैं, जो हमारे शरीर के लिए आवश्यक हैं। शकरकंद प्रोटीन, फायबर, आयरन, कैल्शिय, मैग्नीशियम, फॉस्फोरस, पोटेशियम, सेलेनियम, विटामिन-ए, बी, सी, के, बीटा-कैरोटीन से समृद्ध होती है।इसके अलावा इसमें एंटीऑक्सीडेंट भी मौजूद होते हैं, जो फ्री रेडिकल्स से लड़ने में हमारे शरीर की मदद करते हैं। शकरकंद न सिर्फ आपकी इम्युनिटी को बूस्ट करने में मदद करता है, बल्कि यह आपको कई गंभीर स्वास्थ्य संबंधी समस्याओ के जोखिम को कम करने में भी मदद करता है।
1. डायबिटीज रोगियों के लिए है फायदेमंद-
सर्दियों में डायबिटीज के रोगियों के लिए जोखिम अधिक बढ़ जाता है, लेकिन शकरकंद का सेवन करने से डायबिटीज के जोखिम को कम करने में मदद मिल सकती है। 2008 के एक अध्ययन में, शोधकर्ताओं ने पाया कि सफेद चमड़ी वाले शकरकंद के अर्क ने टाइप 2 मधुमेह वाले लोगों में इंसुलिन की संवेदनशीलता में सुधार किया।इससे पहले 8 सप्ताह तक चूहों पर किए गए एक अध्ययन में शकरकंद का सेवन करने वाले चूहों में इंसुलिन प्रतिरोध के स्तर में सुधार हुआ। इसके अलावा शकरकंद में मौजूद फाइबर भी डायबिटीज के रोगियों के लिए बेहद लाभकारी है। अध्ययनों में पाया गया है कि जो लोग अधिक फाइबर का सेवन करते हैं उन्हें टाइप 2 डायबिटीज होने का खतरा कम होता है।
2. कैंसर के जोखिम को कम करती  है-
शकरकंद बीटा-कैरोटीन का एक बेहतरीन स्रोत है। यह एक प्लांट पिगमेंट है जो शरीर में एक शक्तिशाली एंटीऑक्सीडेंट के रूप में काम करता है। बीटा-कैरोटीन भी एक प्रोविटामिन है। जो बाद में शरीर में विटामिन-ए के रूप में परिवर्तित हो जाता है। एंटीऑक्सिडेंट प्रोस्टेट और फेफड़ों के कैंसर सहित विभिन्न प्रकार के कैंसर के जोखिम को कम करने में मदद कर सकते हैं।शकरकंद में कैरोटीनॉयड नामक यौगिकों की उच्च मात्रा होती है। अमेरिकन इंस्टीट्यूट फॉर कैंसर रिसर्च के अनुसार, लैब अध्ययनों ने कैरोटिनॉयड फ़ंक्शन को एंटीऑक्सिडेंट के रूप में दिखाया है, यह कैंसर सेल के विकास को नियंत्रित करने में सहायता करते हैं, जिसका मतलब है कि वे कैंसर के जोखिम को कम करने में मदद कर सकते हैं।
3. इम्युनिटी होती है मजबूत- 
शकरकंद में विटामिन-सी भी भरपूर मात्रा में होता है। सर्दियों में सर्दी-खांसी के साथ ही अन्य वायरल संक्रमणों की चपेट में आने का जोखिम अधिक हो जाता है। विटामिन-सी आपकी इम्युनिटी को बूस्ट करने में मदद करता है, साथ ही यह शरीर में आयरन को अवशोषित करने में मदद करता है और खून की कमी को पूरा करने में मदद करता है। जिससे कि आपको सर्दियों के दौरान होने वाली स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से राहत पाने में मदद मिलती है।
4. अस्थमा के रोगियों के लिए फायदेमंद है-
सर्दियों में सांस संबंधी समस्याओं या अस्थमा रोगों का जोखिम बढ़ जाता है। शकरकंद में कोलीन होता है, यह पोषक तत्व मांसपेशियों की गति, सीखने और यद्दाश्त को बनाए रखने में भी मदद करता है। साथ ही यह हमारे तंत्रिका तंत्र को भी बढ़ावा देता है। एक अध्ययन में पाया गया है कि कोलीन का अधिक मात्रा में सेवन, अस्थमा से पीड़ित लोगों में सूजन को कम करने में मिलती है।

सम्बंधित ख़बरें