महामीडिया न्यूज सर्विस
बैंक SMS अलर्ट भेज कर ग्राहकों से कर रहे हैं कमाई

बैंक SMS अलर्ट भेज कर ग्राहकों से कर रहे हैं कमाई

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 197 दिन 23 घंटे पूर्व
05/04/2018
कोलकाता (महामीडिया) एसएमएस अलर्ट भेजना बैंकों के लिए यह बेहद फायदे का सौदा है। खासकर वहां जहां ग्राहक काफी कम लेन-देन करते हैं। हालांकि, बैंकों की तरफ से वसूले जाए जाने वाले ये चार्ज आरबीआई के निर्देशों के खिलाफ हैं। आरबीआई ने बैंकों को फ्रॉड रोकने के लिए सभी ट्रांजैक्शन पर एसएमएस अलर्ट भेजने का आदेश दिया था। आरबीआई ने इसके लिए बैंकों को वास्तविक उपयोग के आधार पर चार्ज लगाने के निर्देश भी दिए थे लेकिन भारतीय स्टेट बैंक और आईसीआईसीआई बैंक समेत ज्यादातर बैंक इन नियमों का पालन नहीं करते। कस्टमर्स के हित की सुरक्षा के लिए बैंकिंग इंडस्ट्री पर नजर रखने वाली एक स्वतंत्र संस्था, बैंकिंग कोडस ऐंड स्टैंडर्ड्स बोर्ड ऑफ इंडिया के एक अध्ययन के मुताबिक 48 में से 19 बैंक हर तिमाही अपने ग्राहकों से एसएमएस के लिए 15 रुपये वसूलते हैं जबकि एक ग्राहक को इस सेवा के लिए टैक्स के साथ 17.7 रुपये देने पड़ते हैं। आरबीआई के निर्देशों के मुताबिक बैंकों को डेबिट कार्ड से होने वाले सभी ट्रांजैक्शन, एटीएम से नगद निकासी, नेफ्ट और आरटीजीएस ट्रांजैक्शन में बेनेफिशरी के खाते में पैसे क्रेडिट होने के बाद एसएमएस अलर्ट भेजना अनिवार्य है और यह सेवा फ्री है। 
और ख़बरें >

समाचार