महामीडिया न्यूज सर्विस
देश का पंचांग एक हो ताकि पर्व, व्रत के संशय दूर हों

देश का पंचांग एक हो ताकि पर्व, व्रत के संशय दूर हों

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 134 दिन 20 घंटे पूर्व
08/04/2018
उज्जैन(महामीडिया) ज्योतिष महासम्मेलन के दूसरे दिन व्रत-पर्व को लेकर मतभिन्नता और संशयों पर मंथन हुआ। कई विद्वानों ने राय दी कि उज्जैन को कालगणना का केंद्र मानकर पूरे देश का एक पंचांग बनना चाहिए। इससे संशय दूर हो सकेंगे, मगर कुछ ज्योतिषाचार्य इस पर एकमत नहीं दिखे। कई ज्योतिषियों ने कहा कि व्रत-त्योहार पर सरकारी छुट्टियां घोषित होने से पहले ज्योतिषियों की राय ली जानी चाहिए। सम्मेलन में विक्रम संवत् का प्रचार-प्रसार करने जैसे बिंदुओं पर भी मंथन हुआ
और ख़बरें >

समाचार