महामीडिया न्यूज सर्विस
बुद्ध पूर्णिमा और भगवान बुद्ध के अनमोल वचन

बुद्ध पूर्णिमा और भगवान बुद्ध के अनमोल वचन

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 510 दिन 8 घंटे पूर्व
30/04/2018
भोपाल (महामीडिया)  वैसे तो हर पूर्णिमा अपने आप में अहम होती है, लेकिन वैशाख पूर्णिमा का विशेष महत्व है, खासतौर पर बौद्ध धर्म के अनुयाइयों के लिए। बुद्ध पूर्णिमा के दिन ही भगवान बुद्ध का जन्म हुआ, इसी दिन उन्हें बोधगया में ज्ञान की प्राप्ति हुई और इस दिन उनका महापरिनिर्वाण हुआ।वैशाख पूर्णिमा को 'सत्य विनायक पूर्णिमा' के तौर पर भी मनाया जाता है। पौराणिक कथा के अनुसार, श्रीकृष्ण से मिलने पहुंचे उनके मित्र सुदामा की दरिद्रता देखकर भगवान से रहा नहीं गया। उन्होंने सुदामा को सत्य विनायक व्रत करने को कहा, जिसके प्रभाव से उनकी दरिद्रता समाप्त हो गई। इस दिन 'धर्मराज' की पूजा का भी विधान है। धर्मराज की इस दिन पूजा-उपासना से साधक को अकाल मृत्यु का भय नहीं सताता है।बुद्ध पूर्णिमा का शुभ मुहूर्त 29 अप्रैल सुबह 6:37 बजे से 30 अप्रैल को 6:27 बजे तक रहेगा। हिंदू धर्म में हर त्योहार उदिया तिथि के अनुसार मनाया जाता है, लिहाजा बुद्ध पूर्णिमा भी 30 अप्रैल सोमवार को मनाई जाएगी।बुद्ध पूर्णिमा भारत के अलावा श्रीलंका, कंबोडिया, वियतनाम, चीन, नेपाल, थाईलैंड, मलयेशिया, म्यांमार, इंडोनेशिया जैसे देशों में धूम-धाम से मनाई जाती है। बुद्ध पूर्णिमा के दिन गंगा स्नान का भी विशेष महत्व है। मान्यता है कि इस दिन स्नान करने से व्यक्ति के पिछले कई जन्मों के पापों से मुक्ति मिल जाती है।
और ख़बरें >

समाचार