महामीडिया न्यूज सर्विस
पीएम मोदी जैसा लीडर मिलना गर्व की बात -अमित शाह

पीएम मोदी जैसा लीडर मिलना गर्व की बात -अमित शाह

admin | पोस्ट किया गया 49 दिन 19 घंटे पूर्व
04/05/2018
भोपाल  (  महामीडिया )   .भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह शुक्रवार दोपहर मिशन एमपी के तहत भोपाल पहुंचे। 2 घंटे के अल्प प्रवास पर भोपाल पहुंचे शाह ने दशहरा मैदान पर कार्यकर्ताओं को आगामी चुनाव में जीत का मंत्र दिया, साथ ही कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने राहुल गांधी के मप्र में जीत के दावे पर कहा कि राहुल बाबा को कांग्रेस का अस्तित्व दूरबीन लेकर खोजना पड़ेगा, जीत को दूर की बात है। इसके पहले एयरपोर्ट स्थित स्टेट हैंगर पर मुख्यमंत्री ⦁ शिवराज सिंह चौहान और प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने उनकी अगवानी की।
पीएम मोदी जैसा लीडर मिलना गर्व की बात
- बीजेपी सुप्रीमो शाह ने कहा कि आज जो यहां पर हो रहा है उसकी आवाज पीएम मोदी तक जानी चाहिए, क्योंकि हर मंडल अध्यक्ष विजयश्री के लिए संकल्पित है। मप्र देश का दिल है, जहां भगवान महाकाल स्वयं विराजित हों, ऐसी धरा बीजेपी के लिए पूज्यनीय है। पीएम मोदी जैसा लीडर मिलना हमारे लिए गर्व की बात है।
राहुल बाबा के बयान पर हंसी आती है
- मप्र के नए अध्यक्ष कमलनाथ और राहुल बाबा बड़े विश्वास के साथ बोल रहे हैं कि इस बार मप्र में कांग्रेस की सरकार बनेगी।
- मुझे उनके बयान को सुनकर हंसी आती है। राहुल बाबा को कांग्रेस का अस्तित्व दूरबीन लेकर ढूंढना पड़ेगा।
- आज कांग्रेस के जो नेता हमें देख रहे हैं, मैं उन्हें इस मंच के माध्यम से बताना चाहता हूं कि आप में दम नहीं है कि बीजेपी को हरा सको।
मंच से शाह ने गिनाई पार्टी की उपलब्धि
- शाह ने बीजेपी की विजयश्री को गिनाते हुए कहा कि कांग्रेस जो बात कह रही है मैं उन्हें याद दिलाना चाहता हूं कि लोकसभा चुनाव के बाद सबसे पहले महाराष्ट्र चुनाव हुआ, उसे बीजेपी ने जीता, फिर हरियाणा, जम्मू, असम, मणिपुर, उत्तराखंड, उत्तरप्रदेश, गोवा, हिमाचल, मेघालय, नागालैंड, त्रिपुरा में हम जीत चुके हैं और हमारे कार्यकर्ता अब मई में पटाखे तैयार रखें, कर्नाटक भी हम जीतने वाले हैं।
राहुल बाबा राजा-महाराजा को लेकर चुनाव में उतरे हैं
- शाह ने कहा कि राहुल बाबा को मैं बताना चाहता हूं कि मप्र तो बीजेपी संगठन का गढ़ है। यहां बीजेपी की पैठ अंगद के पैर की तरह है, जिसे उखड़ फेंकना अापके बस की बात नहीं है।
ृ उन्होंने राहुल गांधी पर तंज करते हुए कहा कि आप क्या जीत की बात करते हो बीजेपी गरीबों की बात करती है, और आप राजा-महाराजा की। अब की बार ये लड़ाई कॉर्पोरेट और किसानों के बीच की है।
- राहुल बाबा राजा-महराजा को लेकर चुनाव मैदान में उतरे हैं, हमें उसने डरने की जरूरत नहीं है, क्योंकि मेरा तो बूथ का कार्यकर्ता राजा-महाराजा को हराने की क्षमता रखता है।
कांग्रेस देशभर में विभाजन की राजनीति कर रही है
- शाह ने एंटी इनकंबेंसी को नकारते हुए उन्होंने कार्यकर्ताओं में जोश भरने के लिए कहा कि कांग्रेस को सत्ता भोगने की आदत है, इसलिए उसे एंटी इनकंबेंसी का डर सताता है।
- बीजेपी सत्ता में आते ही सेवा में जुट जाती है, इसलिए उसे ऐसा कोई डर नहीं रहता।
- कांग्रेस देशभर में विभाजन की राजनीति कर रही है, वह जातियों को बांटने का काम कर रही है।
कांग्रेस ने दुनियाभर में हिंदू संस्कृति को बदनाम किया
- शाह ने हिंदू टेरर का जिक्र करते हुए कांग्रेस को जमकर कोसा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने एक फर्जी केस के जरिए हिंदू टेरर नाम देकर हिंदू संस्कृति को दुनियाभर में बदनाम किया है। अब जब कोर्ट ने पूरे मामले को ही नकार दिया है तो कांग्रेस चुप क्यों हैं।
- राहुल गांधी ने 2014 के चुनाव में जिस कदर देशभर में घूम-घूमकर हिंदू टेरर रट रहे थे। अब तो उन्हें माफी मांग लेनी चाहिए, लेकिन वे ऐसा नहीं करेंगे। हमें ही जन-जन तक उनके इस कारनामे को पहुंचाना होगा।
मप्र को शिवराज ने बीमारू राज्य से बाहर निकाला
- शाह ने सीएम शिवराज की तारीफ करते हुए कहा कि मप्र में शिवराज सरकार ने जो काम किया है, शायद ही किसी प्रदेश में हुआ हो। उन्होंने विकास को लेकर एक उदाहरण देते हुए कहा कि जब हम गुजरात से महाकाल दर्शन करने आते थे तो दाहोद तक तो नींद में होते थे, लेकिन जैसे ही मप्र में कदम रखते गड्‌ढे उठा देते थे। वो समय था कांग्रेस राज का। मप्र में आज सड़क का जाल है। विकास दर सबसे ज्यादा है।
शाह ने दिया जीत का मंत्र
- शाह ने जीत का मंत्र देते हुए कहा कि संगठन में काम करते हुए जन-जन तक हमें जाना होगा। हमें बूथ ल लेवल पर काम करना होगा। उन्होंने कहा कि वे खुद हर जिले में पहुंचेंगे और बूथ लेवल के कार्यकर्ताओं के बीच बैठेंगे।
- मप्र में हमारे एक करोड से ज्यादा कार्यकर्ता बने हैं। उसमें से 65 लाख कार्यकर्ताओं का हमारे पास पूरा डाटा है। यदि 65 लाख कार्यकर्ता पांच दिन भी चुनाव प्रचार करते हैं तो हमें जीत से कोई रोक नहीं सकता।
- इस बार चुनाव में विजय के लिए नहीं जाएं, जीत के अंतर को बढ़ाने के लिए जाएं। विजय का अंतर इतना बड़ा हो कि विरोधियों की नींद उड़ जाए।
- जीत का मंत्र देते हुए उन्होंने अपने बचपन की एक बात मंच पर बताई। उन्होंने कहा कि बचपन में मेरे यहां गीता का पाठ हो रहा था। तीसरे दिन मैंने मां से कहा कि भगवान कृष्ण ने इतनी बड़ी गीता थोड़ी ना कही होगी। इस पर पंडित जी ने कहा कि हां बेटा तुम ठीक कह रहे हो, उन्होंने तो बस अर्जुन से इतना कहा होगा कि पूरे जीवन में मैंने तुम्हें जो धर्म की सीख दी है उसे स्मरण करो और धनुष उठाकर दुश्मनों का नाशकर दो। अाप भी उसी प्रकार से दुश्मनों पर टूट पड़ो, विजय अापकी होगी।
सीएम बोले, नरेंद्र मोदी भगवान का वरदान
- सीएम शिवराज ने कहा कि हमारे प्रधानमंत्री देश ही नहीं दुनिया के सबसे लोकप्रिय नेता हैं। मोदी जी भगवान का वरदान हैं। गरीबों, विकास के लिए जितनी तड़प नरेंद्र मोदी जी में है, शायद किसी नेता में हो। बीजेपी का मुकाबला कांग्रेस के बस की बात नहीं।
शिव सैनिकाें ने दिखाए काले झंडे
- बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को शिव सैनिकों ने चेतक ब्रिज के पास काले झंडे दिखाए। शिवसेना की जिला इकाई के कार्यकर्ता पूर्व सपा नेता नरेश अग्रवाल को बीजेपी में शामिल किए जाने से नाराज हैं। बता दें कि नरेश अग्रवाल ने हिन्दू देवी-देवताओं को लेकर टिप्पणी की थी, जिसका विरोध शिव सैनिक कर रहे हैं।
800 मंडल अध्यक्षों ने की शिरकत
- बीजेपी की मंडल स्तरीय पदाधिकारियों की मीटिंग में प्रदेश के 800 मंडल अध्यक्ष भोपाल पहुंचे। जिन्हें पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह चुनाव में जीत का मंत्र दिया।
6 हजार कार्यकर्ता शामिल
- बैठक में करीब 6000 नेता, कार्यकर्ता भी शामिल हुए। इसमें बीजेपी के करीब 58 जिलाध्यक्ष और 800 से ज्यादा मंडल अध्यक्षों के शामिल थे।
कितने बने स्पेशल 11 की जानकारी भी ली
- शाह लगे हाथ युवा मोर्चा के चलो पंचायत अभियान की तैयारियों की व्यापक समीक्षा की। मोर्चा को 14 मई तक मध्यप्रदेश की 23 हजार पंचायतों में स्पेशल 11 सदस्य बनाने हैं, शाह ने मोर्चा से इसकी जानकारी ली।
मिशनअमितशाहबोलेराहुलबाबाआपजीतकीबातकहतेहोआपकोकांग्रेसकाअस्तित्वदूरबीनलेकरखोजनापड़ेगा 
+2और स्लाइड देखें
मिशनअमितशाहबोलेराहुलबाबाआपजीतकीबातकहतेहोआपकोकांग्रेसकाअस्तित्वदूरबीनलेकरखोजनापड़ेगा 
+2और स्लाइड देखें
6 हजार कार्यकर्ताओं को चुनाव जीतने का मंत्र देंगे शाह।



और ख़बरें >

समाचार