महामीडिया न्यूज सर्विस
संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद से बाहर हुआ अमरीका

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद से बाहर हुआ अमरीका

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 119 दिन 22 घंटे पूर्व
20/06/2018
नई दिल्ली(महामीडिया) अमरीका ने कहा है कि वो संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार काउंसिल से बाहर हो रहा है.अमरीकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो और संयुक्त राष्ट्र के लिए अमरीका की दूत निकी हेली ने एक साझा प्रेस वार्ता में इस बात की घोषणा की है.वहीं, काउंसिल के प्रमुख ने कहा है कि अमरीका को मानवाधिकारों की रक्षा से पीछे नहीं हटना चाहिए.निकी हेली ने कहा जब एक तथाकथित मानवाधिकार काउंसिल वेनेज़ुएला और ईरान में हो रहे मानवाधिकारों के उल्लंघन के बारे में कुछ नहीं बोल पाती और कॉन्गो जैसे देश का अपने नए सदस्य के तौर पर स्वागत करती है तो फिर यह मानवाधिकार काउंसिल कहलाने का अधिकार खो देती है.हेली ने कहा कि काउंसिल 'राजनीतिक पक्षपात' से प्रेरित है. उन्होंने कहा हालांकि मैं ये साफ करना चाहती हूं कि काउंसिल से बाहर होने का मतलब ये नहीं है कि हम मानवाधिकारों के प्रति अपनी जिम्मेदारियों से मुकर रहे हैं.हेली ने पिछले साल भी यूएनएचआरसी पर 'इसराइल के ख़िलाफ़ दुर्भावना और भेदभाव से ग्रस्त' होने का आरोप लगाया था और कहा था कि अमरीका परिषद् में अपनी सदस्यता की समीक्षा करेगा.यूएनएचसी से जुड़ी कुछ अहम बातें-
इसे संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार आयोग के विकल्प के तौर पर बनाया गया था.
कुल 47 देश इसके सदस्य हैं जो तीन साल के लिए चुने जाते हैं.
इसका मक़सद दुनिया भर में मानवाधिकार के मुद्दों पर नज़र रखना है.
साल 2013 में चीन, रूस, सऊदी अरब, अल्जीरिया और वियतनाम को यूएनएचसी सदस्य चुने जाने पर मानवाधिकार समूहों ने इसकी आलोचना की थी.
अमरीका साल 2009 में ओबामा प्रशासन के दौरान पहली बार इसका सदस्य बना था.

और ख़बरें >

समाचार