महामीडिया न्यूज सर्विस
कर्नाटक के मुख्यमंत्री कुमारस्वामी का एतीहासिक फिसला

कर्नाटक के मुख्यमंत्री कुमारस्वामी का एतीहासिक फिसला

admin | पोस्ट किया गया 317 दिन 12 घंटे पूर्व
06/07/2018
भोपाल  (महामीडिया)बेंगलुरु राज्य विधानसभा चुनावों से कुछ महीने पहले जनता दल के संस्थापक एचडी देवगौड़ा और उनकी पत्नी चेनम्मा ने सहस्रचंडिका यज्ञ कराया. 11 दिनों का ये आयोजन चिकमगलूर जिले के 1300 साल पुराने श्रृंगेरी शंकर मठ में किया गया. गौड़ा परिवार की आस्था है कि इस विशेष धार्मिक आयोजन की वजह से ही एचडी कुमारस्वामी दुबारा मुंख्यमंत्री बन सके.गहरी धार्मिक आस्था वाले मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने अपने पहले ही बजट में घोषणा की कि इस साल राज्य भर में आदि शंकराचार्य की जयंती का आयोजन किया जाएगा. हिंदू जागरण करने वाले शंकराचार्य ने सातवीं शताब्दी में श्रृंगेरी में शारदा पीठ की स्थापना की थी.शंकराचार्य जयंती के आयोजन के अलावा राज्य के तकरीबन 4 फीसदी ब्राह्मणों का दिल जीतने के लिए 25 करोड़ रुपये का ब्राह्मण डेवलपमेंट कॉरपोरेशन बनाने की भी घोषणा कर दी. ये कॉरपोरेशन राज्य में आर्थिक तौर पर कमजोर ब्राह्मणों के हितों की देख-रेख करेगा." >भोपाल  (महामीडिया)बेंगलुरु राज्य विधानसभा चुनावों से कुछ महीने पहले जनता दल के संस्थापक एचडी देवगौड़ा और उनकी पत्नी चेनम्मा ने सहस्रचंडिका यज्ञ कराया. 11 दिनों का ये आयोजन चिकमगलूर जिले के 1300 साल पुराने श्रृंगेरी शंकर मठ में किया गया. गौड़ा परिवार की आस्था है कि इस विशेष धार्मिक आयोजन की वजह से ही एचडी कुमारस्वामी दुबारा मुंख्यमंत्री बन सके.गहरी धार्मिक आस्था वाले मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने अपने पहले ही बजट में घोषणा की कि इस साल राज्य भर में आदि शंकराचार्य की जयंती का आयोजन किया जाएगा. हिंदू जागरण करने वाले शंकराचार्य ने सातवीं शताब्दी में श्रृंगेरी में शारदा पीठ की स्थापना की थी.शंकराचार्य जयंती के आयोजन के अलावा राज्य के तकरीबन 4 फीसदी ब्राह्मणों का दिल जीतने के लिए 25 करोड़ रुपये का ब्राह्मण डेवलपमेंट कॉरपोरेशन बनाने की भी घोषणा कर दी. ये कॉरपोरेशन राज्य में आर्थिक तौर पर कमजोर ब्राह्मणों के हितों की देख-रेख करेगा." >
भोपाल  (महामीडिया)बेंगलुरु राज्य विधानसभा चुनावों से कुछ महीने पहले जनता दल के संस्थापक एचडी देवगौड़ा और उनकी पत्नी चेनम्मा ने सहस्रचंडिका यज्ञ कराया. 11 दिनों का ये आयोजन चिकमगलूर जिले के 1300 साल पुराने श्रृंगेरी शंकर मठ में किया गया. गौड़ा परिवार की आस्था है कि इस विशेष धार्मिक आयोजन की वजह से ही एचडी कुमारस्वामी दुबारा मुंख्यमंत्री बन सके.गहरी धार्मिक आस्था वाले मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने अपने पहले ही बजट में घोषणा की कि इस साल राज्य भर में आदि शंकराचार्य की जयंती का आयोजन किया जाएगा. हिंदू जागरण करने वाले शंकराचार्य ने सातवीं शताब्दी में श्रृंगेरी में शारदा पीठ की स्थापना की थी.शंकराचार्य जयंती के आयोजन के अलावा राज्य के तकरीबन 4 फीसदी ब्राह्मणों का दिल जीतने के लिए 25 करोड़ रुपये का ब्राह्मण डेवलपमेंट कॉरपोरेशन बनाने की भी घोषणा कर दी. ये कॉरपोरेशन राज्य में आर्थिक तौर पर कमजोर ब्राह्मणों के हितों की देख-रेख करेगा.
और ख़बरें >

समाचार