महामीडिया न्यूज सर्विस
सपा-बसपा और रालोद के बीच लोकसभा सीटों का हुआ बंटवारा !

सपा-बसपा और रालोद के बीच लोकसभा सीटों का हुआ बंटवारा !

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 292 दिन 15 घंटे पूर्व
31/07/2018
नई दिल्‍ली (महामीडिया) 2019 के लोकसभा चुनावों में सीटों के लिहाज से सबसे बड़े राज्‍य यूपी में बीजेपी को घेरने के लिए विपक्षी महागठबंधन की जमीन तैयार हो गई है. गोरखपुर, फूलपुर, कैराना लोकसभा उपचुनावों में इस तरह के प्रयोग के सफल होने के बाद विपक्षी सपा, बसपा, कांग्रेस और रालोद ने गठबंधन का ऐलान तो एक तरह से पहले से ही कर रहा है लेकिन सीटों के मसले पर पेंच फंसा हुआ था. इस तरह की खबरें आ रही हैं कि सूबे के चारों प्रमुख विपक्षी दलों ने मोटेतौर पर सीट-शेयरिंग फॉर्मूला तैयार कर लिया है.इसके तहत कहा जा रहा है कि सूबे में विपक्षी गठबंधन की कमान सपा-बसपा के हाथों में रहेगी और कांग्रेस एवं अजित सिंह की पार्टी राष्‍ट्रीय लोकदल  सहयोगी पार्टी की भूमिका में रहेगी. कहा जा रहा है कि सबसे ज्‍यादा 35 सीटों पर बसपा चुनाव लड़ेगी. उसके बाद 35 सीटें सपा के खाते में होगी लेकिन इस कोटे से तीन सीटें रालोद को दी जाएंगी. यानी सपा 32 सीटों पर अपने प्रत्‍याशी उतारेगी. कांग्रेस के लिए 8-10 सीटें छोड़ दी जाएंगी. हालांकि विपक्षी महागठबंधन में कांग्रेस शामिल होगी इस पर सस्‍पेंस बरकरार है.दरअसल कांग्रेस के खेमे में एक तबका विधानसभा चुनावों के अनुभव के आधार पर सपा-बसपा के साथ गठबंधन कर चुनाव लड़ने के मूड में नहीं है. दरअसल इस तबके को लगता है कि ऐसा होने की स्थिति में कांग्रेस को पसंद करने वाला परंपरागत वोटबैंक पार्टी से छिटक सकता है. सपा से गठबंधन के कारण 2017 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को अपेक्षित सफलता नहीं मिलने की बड़ी वजह यही मानी जाती है. इस तबके का मानना है कि सपा से हाथ मिलाने के कारण ये वोटबैंक कांग्रेस से बिदक गया. ऐसे में सूत्रों के मुताबिक कांग्रेस, सपा और बसपा के साथ सीधेतौर पर गठबंधन नहीं करना चाहती बल्कि रणनीतिक सौदेबाजी करना चाहती है. यानी कांग्रेस इन दलों के साथ गठबंधन नहीं करेगी लेकिन रणनीति के तहत ये दल कांग्रेस के खिलाफ अपने उम्‍मीदवार नहीं उतारेंगे.

और ख़बरें >

समाचार