महामीडिया न्यूज सर्विस
शक्ति का सातवां स्वरूप है मां कालरात्रि

शक्ति का सातवां स्वरूप है मां कालरात्रि

admin | पोस्ट किया गया 309 दिन 23 घंटे पूर्व
16/10/2018
भोपाल (महामीडिया) शक्ति का सातवां स्वरूप है मां कालरात्रि। मां दुर्गा के इस स्वरूप का रंग अंधकार की भांति गहरा काला है। मां कालरात्रि के गले में चपला की तरह चमकने वाली माला है। मां के तीन नेत्र ब्रह्मांड की तरह गोल हैं, जिनसे विद्युत की ज्योति हमेंशा चमकती रहती है। नासिका के श्वास-प्रश्वास से अग्नि की ज्वालाएं निरंतर प्रवाहित होती रहती हैं। मां कालरात्रि का वाहन गर्दभ है। मां का स्वरूप अत्यंत भयानक होने के बाद भी ये सदैव शुभ फल प्रदान करती हैं। इसलिए मां कालरात्रि को शुभंकरी भी कहा जाता है। मां का यह कल्याणकारी स्वरूप का ध्यान हमें अभय प्रदान करता है। मां का यह स्वरूप हमें प्रेरणा देता है कि डर का सामना कर उसे पराजित करने से ही हमारा कल्याण संभव है। मां का यह स्वरूप हमारी आध्यात्मिक चेतना को जाग्रत कर हमें जीवन के कठिन संघर्षों में भी धैर्य, आशा व विश्वास के साथ आगे बढ़ते रहने की चेतना प्रदान करता है। 
और ख़बरें >

समाचार