महामीडिया न्यूज सर्विस
प्रेस की आजादी के लिए काला अध्याय - स्नोडेन

प्रेस की आजादी के लिए काला अध्याय - स्नोडेन

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 74 दिन 4 घंटे पूर्व
12/04/2019
नई दिल्ली (महामीडिया)विकिलीक्स के संस्थापक जूलियन असांजे की गिरफ्तारी का दुनियाभर में बड़े पैमाने पर विरोध शुरू हो गया है। भगोड़े अमेरिकी व्हिसल ब्लोअर एडवर्ड स्नोडेन ने असांजे की गिरफ्तारी को प्रेस की आजादी के लिए काला अध्याय बताया। उन्होंने कहा कि जिस तरह असांजे को इक्वाडोर के दूतावास से खींचकर बाहर लाया गया, इसकी जितनी निंदा की जाए कम है। संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार विशेषज्ञों ने गिरफ्तारी की आलोचना करते हुए आगाह किया कि अगर असांजे को अमेरिका प्रत्यर्पित किया गया तो इसके गंभीर परिणाम होंगे। संयुक्त राष्ट्र से जुड़े मानवाधिकार विशेषज्ञ एग्नेस कालमर्ड ने कहा कि इक्वाडोर का असांजे से शरण वापस लेने का फैसला मानवाधिकार उल्लंघन के असली खतरे को उजागर करता है। अमेरिकी अभिनेत्री पामेल एंडरसन ने असांजे की गिरफ्तारी पर हैरानी जताते हुए कहा कि ब्रिटेन और इक्वाडोर ऐसा कैसे कर सकते हैं।
और ख़बरें >

समाचार