महामीडिया न्यूज सर्विस
आध्यात्मिक शांति की खोज में दुनिया भर से प्रयागराज पहुंच रहे हैं विदेशी मूल के संत

आध्यात्मिक शांति की खोज में दुनिया भर से प्रयागराज पहुंच रहे हैं विदेशी मूल के संत

admin | पोस्ट किया गया 44 दिन 6 घंटे पूर्व
03/01/2019
प्रयागराज (महामीडिया)     यूनेस्को की सूची में मानवता की अमूर्त सांस्कृतिक धरोहर के रूप में शामिल प्रयागराज का कुंभ इस बार देश ही नहीं विदेशी मूल के संतों के लिए भी आकर्षण का केंद्र बन गया है। आध्यात्म की पूंजी संजोने और शांति की खोज में सनातन परंपरा को अपना चुके विदेशी मूल के संत नए साल के पहले दिन से ही मेला क्षेत्र में पहुंचने लगे हैं। कुंभ में आने वाले यह संत अलग-अलग अखाड़ों से जुड़े हैं और अपने संबंधित अखाड़े की पेशवाई का हिस्सा भी बन रहे हैं। वहीं पेशवाई में शामिल ना हो पाने वाले विदेशी संतों ने शाही स्नान में शामिल होने की बात कही है। खास बात यह कि इस बार वैश्विक स्तर पर जारी कुंभ की ब्रांडिंग के बीच विदेशी मूल के संत आम लोगों के आकर्षण का केंद्र बने हुए हैं। फ्रेंच मूल के डैनियल जो कि अब भगवान गिरि बन चुके हैं, यहां आए आनंद अखाड़े का हिस्सा हैं। देवगिरि के शिष्य भगवान गिरि को आध्यात्म में मिलने वाली शांति ने आकर्षित किया और वह सनातन परंपरा के वाहक बन गए। पिछले करीब तीस सालों से वह भारत में ही रह रहे हैं और भारतीय संस्कृति के अनुरूप परिधान धारण करते हैं। 
 



और ख़बरें >

समाचार