महामीडिया न्यूज सर्विस
एनएचबी और नाबार्ड की हिस्सेदारी भारतीय रिजर्व बेंक ने बेचीं

एनएचबी और नाबार्ड की हिस्सेदारी भारतीय रिजर्व बेंक ने बेचीं

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 56 दिन 4 घंटे पूर्व
25/04/2019
नयी दिल्ली   (महामीडिया) भारतीय रिजर्व बेंक ने राष्ट्रीय आवास बैंक  और राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक  में अपनी पूरी हिस्सेदारी सरकार को क्रमश: 1,450 करोड़ रुपये और 20 करोड़ रुपये में बेच दी है. इसके बाद अब एनएचबी और नाबार्ड पूरी तरह से सरकारी स्वामित्व वाली कंपनियां बन गई हैं. रिजर्व बैंक की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक केंद्रीय बैंक ने एनएचबी में 19 मार्च को अपनी हिस्सेदारी बेच दी, जबकि नाबार्ड की हिस्सेदारी 26 फरवरी को ही सरकार को बेच दी थी.यह कदम दूसरी नरसिम्हन समिति की रिपोर्ट में की गई सिफारिश के अनुसार उठाया गया है. यह रिपोर्ट 2001 में सौंपी गई थी जिसमें नियामकीय संस्थानों की एक दूसरे में शेयरहोल्‍डिंग को समाप्त करने की सिफारिश की गई थी. रिजर्व बैंक के अपने स्तर पर भी इस संबंध में एक सर्कुलर जारी किया था. इस पर नरसिम्हन समिति ने कहा था कि रिजर्व बैंक को उन संस्थानों में हिस्सेदारी नहीं रखनी चाहिये जिनका वह नियमन करता है.

और ख़बरें >

समाचार