महामीडिया न्यूज सर्विस
किसानों ने पुणे में 700 एकड़ जमीन पर बसा दी आधुनिक सिटी मगरपट्टा

किसानों ने पुणे में 700 एकड़ जमीन पर बसा दी आधुनिक सिटी मगरपट्टा

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 6 दिन 1 घंटे पूर्व
15/05/2019
पुणे (महामीडिया)  सभी की नजर पुणे की मगरपट्‌टा सिटी पर आकर टिक गई है। महज 650  किसानों ने मिलकर 700 एकड़ जमीन पर देश के सबसे आधुनिक शहर को बसा दिया। लिहाजा, अब दिल्ली विकास प्राधिकरण  भी इस मॉडल को अपनाने जा रहा है। पुणे का गौरव कहलाने वाली मगरपट्टा की सबसे बड़ी खासियत है  कि इस प्रोजेक्ट में किसानों को कंपनी का हिस्सेदार बनाया है।णे के मगरपट्टा इलाके में किसानों ने जमीन पर एक कामयाब शहर बसाया है। कंपनी का नाम भी मगरपट्‌टा रखा गया है। इसमें 25 एकड़ में पार्क, 12 एकड़ में मॉल, 17500 रिहायशी यूनिट, कमर्शियल काम्पलेक्स आदि हैं। इसी में साइबरसिटी है, जो सबसे बड़े प्राइवेट सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी पार्क में गिनी जाती है। मगरपट्टा बसाने वाली कंपनी में अब 650 सदस्य हैं। ये सभी किसान परिवार से हैं। इसमें न तो कोई बाहर से जुड़ा और न ही कोई छोड़कर गया। कंपनी ही शहर की देखरेख का काम संभालती है। यहां करीब 42 हजार लोग रहते हैं। इसमें किसानों के फ्लैट भी है। यहां करीब 1 लाख 40 हजार लोग रोज काम करने आते हैं। अस्पताल, चौड़ी सड़कें, पार्क, स्कूल, स्पोट्र्स सहित कई सुविधाएं है। कंपनी के सदस्यों को किराये के भवन और रजिस्ट्रेशन फीस सहित अन्य मदों से होने वाली आय का हिस्सा भी दिया जाता है। अब यहां पर सभी सुविधाओं के साथ लोग रह रहे हैं।  मगरपट्टा की कामयाबी को देखते हुए इसी तर्ज पर एक और टाउनशिप विकसित करने का काम भी शुरू हो गया है। करीब 850 एकड़ जमीन को विकसित करने का काम चल रहा है।  मगरपट्टा में लैंड पूलिंग पॉलिसी पर शहर बसाने की शुरुआत सन 1990 में की गई थी। इसके क्रियान्वयन में लंबा समय लगा। 2012 में शहर बनकर तैयार हुआ।स्कूल, कॉलेज, बैंक, हॉस्पिटल, फूड कोर्ट्स, एंटरटेनमेंट जोन ये सब आपको यहां मिल जाएंगे। यही नहीं, यहां पर्यावरण का ख्याल रखते हुए करीब मगरपट्टा सिटी में 120 एकड़ में 32 हजार पेड़ लगाए गए हैं। 70 प्रतशित एरिया ओपन रखा गया है।  विकास का अनोखा उदाहरण पेश करने वाले मगरपट्टा सिटी को महाराष्ट्र इकोनॉमिक डेवलपमेंट काउंसिल ने राज्य की 10 सक्सेस स्टोरीज में शामिल किया है।
और ख़बरें >

समाचार