महामीडिया न्यूज सर्विस
गुजरात के सौराष्ट्र में कोई मुफ्त में बांट रहा प्याज तो कोई जानवरों को खिला रहा

गुजरात के सौराष्ट्र में कोई मुफ्त में बांट रहा प्याज तो कोई जानवरों को खिला रहा

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 44 दिन 23 घंटे पूर्व
05/02/2019
अहमदाबाद (महामीडिया)     उत्पादन भरपूर लेकिन दाम सही ना मिलने से गुजरात के सौराष्ट्र के किसान बेहद नाराज हैं। आलम यह है कि फसल के उचित दाम नहीं मिलने सौराष्ट्र के किसानों को मूंगफली व कपास के बाद किसानों के प्याज के उचित दाम के लिए भी आंसू बहाने पड़ रहे है। रविवार को प्रति किलो प्याज के दाम 75 पैसे मिलने से नाराज किसानों ने खेत में खड़ी फसल पशुओं को चरा दी। जबकि कई किसानों ने प्याज मुफ्त में सबको बांट दिए।किसानो को प्रति किलों प्याज के बुआई से लेकर उसके ट्रांसपोर्टेशन तक कुल न्यून्तम चार से पांच रुपये खर्च करने पड़ते है और बाजार में प्याज प्रतिकिलो 15 से 20 रुपये में मिल रहे हैं। लेकिन बिचौलियों के कारण किसानों प्रतिकिलों प्याज के 75 पैसे ही मिल रहे है। इससे निराश सौराष्ट्र के भेंसाणा तहसील के 70 से अधिक किसानों ने प्याज की तैयार फसल पशुओं को चरा दी। वहीं कई किसानों ने अपनी फसल लोगों को मुफ्त ही बांट दी।पशुओं को अपनी फसल चराने वाले सौराष्ट्र के करीया गांव के किसान चंद्रेशभाई घडुक ने बताया कि इस क्षेत्र में जंगली पशु का आंतक रहता है। जिसके कारण किसानों द्वारा कंदमूल की बुआई की जाती है। इस बार उन्होंने प्याज की बुआई की थी। लेकिन उसका सही दम नहीं मिला है। इससे उनकी मजदूरी भी नहीं निकल पा रही है। महाराष्ट्र और मध्यप्रदेश के किसान प्याज पर प्रति क्विन्टल 200 रुपये सहायता दी जाती है। जबकि गुजरात के किसानों से अन्याय होता है। गुजरात में किसानो की बहुत दयनीय स्थिति है। वे आत्महत्या करने पर मजबूर हो गए है।आंबालाश गिर गांव के किसान चंदुभाई नानजीभाई रामोलीया ने बताया कि उन्होंने रुपये खर्च कर सात से आठ महीने के मेहनत कर 8 बिघा खेत में प्याज की बुआई की थी। प्याज का अच्छा उत्पादन हुआ था। लेकिन प्याज बाजार में बेचने के लिए गये तो व्यापारी ने 20 किलो की 16 रुपये दिए अर्थात प्रति किलों 60 पैसे हुए। उन्होंने प्याज की फसल तैयार करने में जितनी मेहनत और खर्च किया उससे आधी से आधी कीमत भी उन्हें नहीं मिल रही थी। जिसके कारण निराश उन्होंने अपने तथा आसापास के गांवो में प्याज मुफ्त में ही सबको बांट दी।किसानो का आरोप है कि मार्केटयांर्ड में प्याज की कीमत 50 से 97 रुपये प्रति 20 किलो के भाव बेची जाती है । लेकिन किसानों को उसकी आधी कीमत भी नहीं मिलती है। किसानों ने कहा कि किसानों को उनकी फसल के सही दाम नहीं मिल रहे है किसानों का आरोप है कि सही दाम नहीं मिलने किसानों मे सरकार के खिलाफ रोष है। आगामी दिनों में सौराष्ट्र भर के किसानों द्वारा आदोलन किया जायेगा।



और ख़बरें >

समाचार