महामीडिया न्यूज सर्विस
लोकसभा स्पीकर के लिए चार नाम रेस में

लोकसभा स्पीकर के लिए चार नाम रेस में

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 80 दिन 1 घंटे पूर्व
06/06/2019
नई दिल्ली [ महामीडिया ]   17 वीं लोकसभा चुनाव के बाद 17 जून से संसद का सत्र शुरू होने वाला है.अब सबकी नजरें नए लोकसभा स्पीकर पर टिकीं हैं. कई वरिष्ठ सांसदो के नामों को लेकर अटकलें लग रही हैं. चर्चा में चार सबसे वरिष्ठ सांसदों का नाम चल रहा है. बताया जा रहा है कि 19 जून को लोकसभा स्पीकर का चुनाव होगा, उससे पहले 17 और 18 जून को प्रोटेम स्पीकर की ओर से नवनिर्वाचित सांसदों को शपथ दिलाई जाएगी.वहीं पांच जुलाई को बजट पेश किया जाएगा. सूत्र बता रहे हैं कि पिछली बार की तरह इस बार भी बीजेपी डिप्टी स्पीकर का पद एनडीए के किसी सहयोगी दल को दे सकती है. एनडीए के घटक दल शिवसेना ने डिप्टी स्पीकर पद की मांग की है.आमतौर पर वरिष्ठतम सांसदों में से ही लोकसभा स्पीकर का चुनाव होता है. मगर वरिष्ठता के साथ यह भी ध्यान रखा जाता है कि संबंधित सांसद संसदीय कायदे-कानूनों के जानकारी भी रखने वाला हो. ताकि वह लोकसभा का विधिवत संचालन करने में सक्षम हो. इकोनॉमि‍क टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक वरिष्ठता के लिहाज से देखें तो इस वक्त सुल्तानपुर से सांसद मेनका गांधी का नाम सबसे ऊपर चल रहा है. वह आठ बार की सांसद हैं. यूं तो बरेली से संतोष गंगवार भी आठ बार के सांसद हैं, मगर वे मोदी सरकार में मंत्री बन चुके हैं.लोकसभा अध्यक्ष पद के लिए दूसरा नाम मध्य प्रदेश की टीकमगढ़ सुरक्षित सीट से सात बार के सांसद वीरेंद्र कुमार का चल रहा है. वह 1996 से लगातार सांसद हैं. पिछली बार मोदी सरकार में उन्हें महिला एवं बाल विकास तथा अल्पसंख्यक मामलों के मंत्रालय में राज्य मंत्री का पद मिला था.एसएस अहलूवालिया छुपे रुस्तम साबित हो सकते हैं. अहलूवालिया का एक सांसद के तौर पर अच्छा ट्रैक रिकॉर्ड रहा है. उन्हें राज्यसभा में उप नेता पद पर भी काम का अनुभव है. वह संसदीय नियम कायदों के साथ बंगाली, भोजपुरी, असमी, पंजाबी, हिंदी, अंग्रेजी भाषा के जानकार भी हैं.

और ख़बरें >

समाचार