महामीडिया न्यूज सर्विस
पाकिस्तान में पोलियो के ख़िलाफ़ आख़िरी जंग

पाकिस्तान में पोलियो के ख़िलाफ़ आख़िरी जंग

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 32 दिन 22 घंटे पूर्व
21/06/2019
नई दिल्ली  [महामीडिया ]उस बच्ची की उम्र पांच बरस से ज़्यादा नहीं है. वो अपने कमरे में छुपकर बस रोए जा रही है.'मैं मरना नहीं चाहती'. वो रोते हुए कहती है.उसके मां-बाप आख़िरकार बच्ची को ये समझाने में कामयाब हो गए कि टीका सुरक्षित है. उसे कमरे से बाहर लाया जाता है, ताकि वो देखे कि उसके भाई-बहन अपनी जीभ निकालकर किस तरह से वैक्सीन ले रहे हैं.लेकिन, बच्ची का रोना जारी है. घर में डर का माहौल साफ़ दिखता है. इससे पहले पोलियो कार्यकर्ताओं को बच्ची के हथियारबंद रिश्तेदारों ने भगा दिया था. इसके बाद पोलियो का टीका लगाने वाली टीम ने सरकारी स्वास्थ्य सलाहकार डॉक्टर उज़्मा हयात ख़ान से मदद मांगी.उनका सामना उन लोगों से हुआ जो उज़्मा को किसी भी क़ीमत पर घर के भीतर नहीं जाने देना चाहते थे. ये टकराव तब जाकर ख़त्म हुआ जब एक और रिश्तेदार वहां पहुंचे. वो रिश्तेदार ख़ुद भी डॉक्टर हैं.इसके बाद जाकर पोलियो टीकाकरण अभियान की टीम सभी बच्चों को टीका लगा सकी. उसमें भी वो रोती हुई बच्ची बच गई थी. तब पोलियो टीकाकरण टीम ने तय किया वो बच्ची को अगले दिन टीका लगाने की कोशिश करेंगे.पाकिस्तान में पोलियो वैक्सीन को लेकर लोगों में बहुत विरोध है. वो ये जानते हैं कि इससे ज़िंदगी बचाने में मदद मिलती है.फिर भी पोलियो टीकाकरण का पाकिस्तान में बहुत विरोध होता है. इस बार तो तनाव और भी बहुत बढ़ गया था.

और ख़बरें >

समाचार