महामीडिया न्यूज सर्विस
यूपी ने 17 पिछड़ी जातियों को अनुसूचित सूची में डाला

यूपी ने 17 पिछड़ी जातियों को अनुसूचित सूची में डाला

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 56 दिन 2 घंटे पूर्व
29/06/2019
लखनऊ (महामीडिया) उत्तरप्रदेश की योगी सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए 17 पिछड़ी जातियों को अनुसूचित जातियों में शामिल करने का आदेश जारी कर दिया है। इससे योगी सरकार अति पिछड़ों में मजबूत घुसपैठ के साथ इन जातियों का 14 फीसदी वोटबैंक साधने की कोशिश में भी हैं। यूपी में 17 जातियों (निषाद, बिंद, मल्लाह, केवट, कश्यप, भर, धीवर, बाथम, मछुआरा, प्रजापति, राजभर, कहार, कुम्हार, धीमर, मांझी, तुरहा और गौड़) की आबादी करीब 13.63 फीसदी है। चुनावों में इन जातियों का रुझान जीत की दिशा तय कर सकता है। यूपी में 13 निषाद जातियों की आबादी 10.25 फीसदी है। वहीं, राजभर 1.32 फीसदी, कुम्हार 1.84 फीसदी और गोंड़ 0.22 फीसदी हैं। अरसे से इनकी मांग रही है कि उन्हें एससी-एसटी की सूची में शामिल किया जाए। 
सरकार के इस फैसले को यूपी में एसपी और बीएसपी के तोड़ के रूप में देखा जा रहा है। इस आदेश को लोकसभा चुनाव के दौरान अलग हुई सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी से विधानसभा चुनाव में संभावित नुकसान की भरपाई का प्रयास भी माना जा रहा है। एसबीएसपी अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर का मानना है कि पिछड़ी जातियों में भी अति पिछड़ी होने की वजह से समाज में उन्हें वाजिब हिस्सेदारी नहीं मिल रही है। 

और ख़बरें >

समाचार