महामीडिया न्यूज सर्विस
सांसद नुसरत जहां के पीछे पड़े देवबंदी उलेमा

सांसद नुसरत जहां के पीछे पड़े देवबंदी उलेमा

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 46 दिन 4 घंटे पूर्व
05/07/2019
नई दिल्ली (महामीडिया) पश्चिम बंगाल की सांसद नुसरत जहां पर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। पहले मांग में सिंदूर और गले में मंगलसूत्र पहनकर संसद में पहुंचने पर देवबंदी उलेमाओ ने नाराजगी जताई थी अब उन्होंने नुसरत जहां के मंदिर में जाकर आरती करने को लेकर बहस शुरू कर दी है। उलेमा ने नाराजगी जताते हुए नुसरत से सवाल पूछा कि वो बताएं कि वो हिंदू हैं या फिर मुसलमान।
कल सांसद नुसरत जहां के पति निखिल जैन के साथ मंदिर में पहुंचकर आरती करने को लेकर उलेमा ने नाराजगी जताई है। मजलिस इत्तेहाद-ए-मिल्लत के प्रदेशाध्यक्ष मुफ्ती अहमद गौड़ ने कहा कि नुसरत जहां शुरू से ही चर्चा का विषय बनी हैं। उन्हें देश की जनता को बताना चाहिए कि वो हिंदू हैं या फिर मुसलमान। अगर वो हिंदू हैं और उन्होंने मुस्लिम धर्म छोड़ दिया तो वह स्वतंत्र हैं कुछ भी कर सकती हैं, लेकिन अगर उन्होंने मुस्लिम धर्म नहीं छोड़ा और उसके बावजूद भी वह दूसरे धर्मों की परंपराओं को अपना रहीं हैं तो सब गुनाह है। मुफ्ती अहमद ने कहा कि यह देश प्रजातांत्रिक देश हैं इसमें हर व्यक्ति को अपने मजहब के मुताबिक जिंदगी जीने का अधिकार प्राप्त है। अगर वो अभी भी मुसलमान हैं तो वह उसकी परंपराओं को निभाएं। इस्लाम धर्म में जो तरीका इबादत का रखा गया है उसी तरह वह इबादत करें, लेकिन अगर वह मुसलमान होते हुए भी धर्म के तौर तरीके से हटकर दूसरी परंपराओं को अपना रही हैं तो यह बहुत बड़ा गुनाह है।

और ख़बरें >

समाचार