महामीडिया न्यूज सर्विस
अधिक से अधिक वृक्ष लगाकर भावातीत ध्यान को अपनायें- ब्रह्मचारी गिरीश

अधिक से अधिक वृक्ष लगाकर भावातीत ध्यान को अपनायें- ब्रह्मचारी गिरीश

admin | पोस्ट किया गया 43 दिन 20 घंटे पूर्व
11/07/2019
भोपाल (महामीडिया) आज महर्षि सेंटर फार एजूकेशनल एक्सीलेंस परिसर लांबाखेडा भोपाल में हरा-भरा और शीतल भारत के तृतीय दिवस वृक्षारोपण संपन्न हुआ।
इस अवसर पर महर्षि विद्या मंदिर विद्यालय स्कूल के अध्यक्ष ब्रह्मचारी गिरीश ने अपने संदेश में कहा कि हरा-भरा और शीतल भारत में शीतल का तात्पर्य है ठंडक या शीतलता। इसीलिए हम बाहरी शीतलता के लिए अधिक से अधिक वृक्षारोपण करें एवं आंतरिक शीतलता के लिए परमपूज्य महर्षि महेश यागी जी द्वारा प्रणीत भावातीत ध्यान का नियमित अभ्यास करें। अधिक से अधिक वृक्ष लगाकर भावातीत ध्यान को अपनायें यही महत्वपूर्ण है और इसीलिए इसको ध्यान में रखते हुए महर्षि संस्थान अपने सभी संस्थानों में सात दिवसीय वृक्षारोपण कार्यक्रम कर रहा है।
इस अवसर पर उपस्थित, भोपाल संभाग के चीफ कंजरवेटर आफिसर सूर्य प्रकाश तिवारी ने कहा कि पेड़ आक्सीजन का महत्वपूर्ण स्त्रोत है वह हमारे माता-पिता के समान है। आज हमारे देश में प्रति व्यक्ति केवल 28 पेड हैं जो बाकी देशों की तुलना में काफी कम हैं हमें इसे बड़ाकर 50 पेड़ प्रति व्यक्ति करना है इसलिए हमें ज्यादा से ज्यादा वृक्षारोपण चाहिए। इस अवसर पर महर्षि विद्यामंदिर विद्यालय स्कूल के कार्यपालन निदेशक पी. सी. जोशी ने कहा कि पर्यावरण असंतुलन के कारण कई समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। आतंकवाद महज कुछ की समस्या है जबकि पर्यावरण असंतुलन एक वैश्विक समस्या है। यह समस्या हम मनुष्यों के कारण ही हो रही है। इसके लिए महर्षि महेश योगी जी ने हमें भावातीत ध्यान दिया है जिससे हमारा आंतरिक संतुलन बना रहे। कार्यक्रम का शुभारंभ महर्षि संस्थान की परंपरा अनुसार गुरूपूजन से प्रारंभ हुआ। इसके पश्चात दीप प्रज्जवलम, बच्चों द्वारा वैदिक मंत्रों का सामूहिक पाठ किया गया। इस अवसर पर महर्षि विद्या मंदिर विद्यालय समूह के सहायक निदेशक रामदेव द्विवेदी एवं महर्षि सेंटर फार एजूकेशनल एक्सीलेंस की प्राचार्य श्री मति रेखा मितल मंच पर उपस्थित थी एवं अपने विचार साझा किये।
कार्यक्रम के उपरांत सभा में उपस्थित समस्त लोगों ने स्थानीय परिसर में एक-एक वृक्ष अपने हाथों से लगाकर वृक्षारोपण किया।

और ख़बरें >

समाचार