महामीडिया न्यूज सर्विस
आजादी के दीवानों की दास्तान बताता छत्तीसगढ़ का गणेश मंदिर

आजादी के दीवानों की दास्तान बताता छत्तीसगढ़ का गणेश मंदिर

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 16 दिन 18 घंटे पूर्व
02/09/2019
रायपुर[ महामीडिया ] अंग्रेजी शासनकाल में संपूर्ण भारतवासियों को एकसूत्र में पिरोने और जन-जन में भक्ति-भावना जगाने के उद्देश्य से स्वतंत्रता संग्राम सेनानी बाल गंगाधर तिलक ने 'गणेश पर्व' की शुरुआत की थी। उसी दौर में राजधानी की पुरानी बस्ती, टुरी हटरी के समीप गणेश मंदिर की स्थापना हुई थी।देश को आजादी दिलाने के लिए जब भी छत्तीसगढ़ के स्वतंत्रता संग्राम सेनानी राजधानी में एकत्रित होते थे, और अंग्रेजों के खिलाफ लड़ने के लिए योजनाएं बनाते थे, योजनाओं को अमल में लाने से पूर्व वे टुरी हटरी के पास स्थित भगवान श्रीगणेश के दर्शन करके अपने-अपने मोर्चों पर रवाना होते थे। राजधानी में यह एक मात्र गणेश मंदिर है, जिसकी स्थापना हुए 100 साल से अधिक का समय बीत चुका है।

और ख़बरें >

समाचार