महामीडिया न्यूज सर्विस
ऑर्बिटर से सफलतापूर्वक अलग हुआ विक्रम लैंडर

ऑर्बिटर से सफलतापूर्वक अलग हुआ विक्रम लैंडर

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 19 दिन 8 मिनट पूर्व
02/09/2019
बेंगलुरु[ महामीडिया ] भारत के चंद्रयान-2 मिशन का आज एक बेहद ही महत्वपूर्ण दिन है। आज चांद के सफर पर गए इसरो के चंद्रयान से लैंडर विक्रम सफलतापूर्वक अलग हो गया है। चांद पर पहुंचने की कोशिश में इसरो की यह बड़ी कामयाबी है। चंद्रयान-2 के तीन हिस्से हैं - ऑर्बिटर, लैंडर "विक्रम" और रोवर "प्रज्ञान"।आज दोपहर 1.15 बजे बेहद ही महत्वपूर्ण प्रक्रिया के तहत लैंडर विक्रम को ऑर्बिटर से सफलतापूर्वक अलग किया गया। फिलहाल विक्रम लैंडर अपने ऑर्बिट में है वहीं लैंडर के अलग होने के बाद ऑर्बिटर करीब सालभर चांद की परिक्रमा करते हुए विभिन्न प्रयोगों को अंजाम देगा।वहीं लैंडर-रोवर धीरे-धीरे चांद की ओर बढ़ते हुए सात सितंबर को वहां के दक्षिणी ध्रुव पर उतरेंगे। ऐसा होते ही भारत यह उपलब्धि हासिल करने वाला चौथा देश बन जाएगा। इससे पहले अमेरिका, रूस और चीन ने अपने यान चांद पर उतारे हैं। लैंडर-रोवर कुल 14 दिन तक चांद की सतह पर प्रयोग करेंगे। यह अवधि चांद के एक दिन के बराबर है।

और ख़बरें >

समाचार