महामीडिया न्यूज सर्विस
इसरो समेत पूरे देश की नजरें अब ऑर्बिटर पर टिकीं

इसरो समेत पूरे देश की नजरें अब ऑर्बिटर पर टिकीं

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 96 दिन 23 घंटे पूर्व
07/09/2019
नई दिल्ली (महामीडिया) लैंडर विक्रम से भले ही 2.1 किलोमीटर पर इसरो के कंट्रोल रूम का संपर्क टूट गया हो लेकिन अब इसरो समेत पूरे देश की नजरें ऑर्बिटर पर टिक गई है। ऑर्बिटर पहले ही लैंडर विक्रम से अलग हो चुका है और फिलहाल चांद के चारों तरफ चक्कर काट रहा है। ऑर्बिटर करीब एक साल तक चांद का चक्कर काटेगा और वहां की अहम जानकारी इसरो को भेजेगा। ऐसे में अब चांद के अगले अभियानों के लिए ऑर्बिटर से मिलने वाली जानकारी अहम हो सकती हैं।
भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन के एक अधिकारी ने नाम न जाहिर करने के अनुरोध के साथ बताया, 'मिशन का सिर्फ पांच प्रतिशत -लैंडर विक्रम और प्रज्ञान रोवर- नुकसान हुआ है, जबकि बाकी 95 प्रतिशत -चंद्रयान-2 ऑर्बिटर- अभी भी चंद्रमा का सफलतापूर्वक चक्कर काट रहा है।'
एक साल मिशन अवधि वाला ऑर्बिटर चंद्रमा की कई तस्वीरें लेकर इसरो को भेज सकता है। अधिकारी ने कहा कि ऑर्बिटर लैंडर की तस्वीरें भी लेकर भेज सकता है, जिससे उसकी स्थिति के बारे में पता चल सकता है।
बता दें कि चंद्रयान-2 अंतरिक्ष यान में तीन खंड हैं -ऑर्बिटर, विक्रम और प्रज्ञान। विक्रम दो सितंबर को आर्बिटर से अलग हो गया था। 
और ख़बरें >

समाचार