महामीडिया न्यूज सर्विस
पिछले 60 सालों में 48% मून मिशन असफल हुए

पिछले 60 सालों में 48% मून मिशन असफल हुए

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 15 दिन 21 घंटे पूर्व
07/09/2019
नई दिल्ली [ महामीडिया ]भारत का चंद्रयान-2 मिशन असफल नहीं हुआ है लेकिन उम्मीद के मुताबिक इसमें सफलता भी नहीं मिल पाई है। ऐसे में अब इस मिशन को लेकर जहां देश में अपने वैज्ञानिकों के प्रति गर्व और सम्मान है वहीं दुनिया भी इसरो की इस कोशिश को सलाम कर रही है। इस बीच अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा ने एक फैक्ट शीट जारी की है जिसमें दावा किया गया है कि पिछले 60 सालों में 109 मून मिशन हुए उनमें से केवल 61 प्रतिशत ही सफल हो सके हैं।भारत की स्पेस एजेंसी इसरो द्वारा मध्य रात्री चांद की सतह पर की जाने वाली सॉफ्ट लैंडिंग उम्मीद और प्लानिंग के अनुसार नहीं हुई और इसके बाद से ही इसरो का लैंडर विक्रम से संपर्क टूटा हुआ है। इसी साल फरवरी में इजराइल ने भी अपने मून मिशन की घोषणा की थी लेकिन यह अप्रैल में क्रैश लैंड कर गया।1958 से लेकर 2019 तक अमेरिका, रूस, जापान, यूरोपियन यूनियन, चीन और इजराइल ने अलग-अलग मून मिशन लॉन्च किए। सबसे पहला मून मिशन अमेरिका द्वारा 17 अगस्त 1958 में प्लान किया गया था जो असफल रहा। वहीं पहला सफल चंद्र मिशन उस समय के सोवियत यूनियन द्वारा किया गया था जो 4 जनवरी 1959 का था जो एक फ्लाय बाय था जिसका नाम लूना-1 था।एक साल के समय में अमेरिका और सोवियत यूनियन ने 14 चंद्र मिशन लॉन्च किए थे। इनमें सोवियत यूनियन के लूना-1, लूना-2 और लूना-3 ही सफल हुए। अमेरिका द्वारा 1964 में लॉन्च किया गया रेंजर-7 मिशन पहला ऐसा मिशन था जिसने चांद की करीब से तस्वीरें ली। 1966 में सोवियत यूनियन द्वारा चांद पर पहली बार की गई सॉफ्ट लैंडिंग के बाद चांद की सतह से पहली तस्वीरें सामने आईं।पांच महीने बाद अमेरिका ने मई 1966 में इसी तरह का मिशन सर्वेयर-1 लॉन्च करने में सफलता प्राप्त की। अमेरिका का अपोलो-11 मिशन वो मौका था जब पहली बार इंसान ने चांद पर कदम रखा। 1958 से लेकर 1979 तक अमेरिका और सोवियत यूनियन ने कईं मिशन लॉन्च किए। इन 21 सालों में दोनों देशों ने 90 मिशन लॉन्च किए। हालांकि, 1980 से 89 के बीच कोई मिशन नहीं हुआ।जापान, चीन, योरोपियन यूनियन और भारत के अलावा इजराइल देरी से इस रेस में आए। जापान ने जनवरी 1990 में मून मिशन लॉन्च किया।यह जापान का पहला मिशन था और इसके बाद सितंबर 2007 में सेलेन नाम का दूसरा मिशन लॉन्च किया। 2000 से 2009 के बीच यूरोप, जापान, चीन, भारत और अमेरिका ने 10 मिशन लॉन्च किए। इनमें से तीन अमेरिकी और एक-एक भारत और इजराइल ने लॉन्च किए।

और ख़बरें >

समाचार