महामीडिया न्यूज सर्विस
संयुक्त राष्ट्र में पीएम मोदी का ऐतिहासिक भाषण

संयुक्त राष्ट्र में पीएम मोदी का ऐतिहासिक भाषण

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 25 दिन 14 घंटे पूर्व
28/09/2019
न्यूयॉर्क (महामीडिया) कल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित किया। अपने संबोधन में पीएम नरेंद्र मोदी ने आतंकवाद, विकास सहित कई महत्वपूर्ण विषयों को उठाया। पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि जब एक विकासशील देश, दुनिया का सबसे बड़ा स्वच्छता अभियान सफलता पूर्वक संपन्न करता है, सिर्फ 5 साल में 11 करोड़ से ज्यादा शौचालय बनाकर अपने देशवासियों को देता है, तो उसके साथ बनी व्यवस्थाएं पूरी दुनिया को एक प्रेरक संदेश देती हैं।
पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि अगले 5 वर्षों में हम जल संरक्षण को बढ़ावा देने के साथ ही 15 करोड़ घरों को पानी की सप्लाई से जोड़ने वाले हैं। 2022 में जब भारत अपनी स्वतंत्रता के 75 वर्ष का पर्व मनाएगा, तब तक हम गरीबों के लिए 2 करोड़ और घरों का निर्माण करने वाले हैं।
अपने भाषण के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि जब एक विकासशील देश, दुनिया की सबसे बड़ी हेल्थ इंश्योरेंस स्कीम सफलतापूर्वक चलाता है, 50 करोड़ लोगों को हर साल 5 लाख रुपए तक के मुफ्त इलाज की सुविधा देता है, तो उसके साथ बनी संवेदनशील व्यवस्थाएं पूरी दुनिया को एक नया मार्ग दिखाती हैं।
पीएम मोदी ने कहा कि हमारी प्रेरणा है- सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास। हम 130 करोड़ भारतीयों को केंद्र में रखकर प्रयास कर रहे हैं लेकिन ये प्रयास जिन सपनों के लिए हो रहे हैं, वो सारे विश्व के हैं, हर देश के हैं, हर समाज के हैं। प्रयास हमारे हैं, परिणाम सारे संसार के लिए हैं
पीएम नरेंद्र मोदीने के कहा कि हमारी आवाज में आतंक के खिलाफ दुनिया को सतर्क करने की गंभीरता भी है और आक्रोश भी। हम मानते हैं कि ये किसी एक देश की नहीं, बल्कि पूरी दुनिया की और मानवता की सबसे बड़ी चुनौतियों में से एक है।
अपने संबोधन के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि मुझे ये बताते हुए खुशी हो रही है कि आज जब मैं आपको संबोधित कर रहा हूं, तब इस वक्त बी हम पूरे भारत को सिंगल यूज प्लास्टिक से मुक्त करने के लिए एक और बड़ा अभियान चला रहे हैं।
पीएम मोदी ने कहा कि 'यूएन पीसकिपिंग मिशन' में सबसे बड़ा बलिदान अगर किसी देश ने दिया है, तो वो देश भारत है। हम उस देश के वासी हैं जिसने दुनिया को युद्ध नहीं बुद्ध दिए हैं, शांति का संदेश दिया है।
पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि आतंक के नाम पर बटी हुई दुनिया, उन सिद्धांतों को ठेस पहुंचाती है, जिनके आधार पर यूएन का जन्म हुआ है। इसलिए मानवता की खातिर आतंक के खिलाफ पूरे विश्व का एकमत होना, एकजुट होना मैं अनिवार्य समझता हूं।
पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि 2025 तक हम भारत को टीबी से मुक्त करने की दिशा में काम कर रहे हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि हम जन-भागीदारी से जन-कल्याण की दिशा में काम कर रहे हैं और यह केवल भारत ही नहीं 'जग-कल्याण' के लिए है। 

और ख़बरें >

समाचार