महामीडिया न्यूज सर्विस
ऊधमपुर का पिंगला माता मंदिर जहां शहीदों के नाम से अखंड ज्योति जलती है

ऊधमपुर का पिंगला माता मंदिर जहां शहीदों के नाम से अखंड ज्योति जलती है

Admin Chandel | पोस्ट किया गया 67 दिन 21 घंटे पूर्व
02/10/2019
जम्मू (महामीडिया) ऊधमपुर स्थित पिंगला माता मंदिर में हर शारदीय नवरात्र पर शहीद जवानों के नाम से अखंड ज्योति प्रज्ज्वलित की जाती है। नवरात्र पर पिंगला माता यात्रा की भी धूम रहती है। शहीदों के परिजन भी पहुंचते हैं, जिनका सम्मान किया जाता है। 1987 से हर वर्ष माता के दरबार में शहीदों के नाम से यह ज्योति प्रज्ज्वलित की जाती है। यहां मां के जयकारों के साथ शहीदों के तराने गूंजते हैं।
शारदीय नवरात्र में जम्मू-कश्मीर का पूरा वातावरण मां के जयघोष से गूंजने लगता है। वैष्णो देवी के साथ अन्य मंदिरों तक दर्जनों यात्राएं आयोजित होती हैं। हर ओर मां के जयकारे सुनाई पड़ते हैं, लेकिन ऊधमपुर के रामनगर क्षेत्र से चलने वाली यह यात्रा कुछ अनोखी है। यहां मां के जयकारों के साथ ही देश के लिए सर्वोच्च बलिदान करने वाले वीर सपूतों के सम्मान में तराने गूंजते हैं और मां के दरबार में इन शहीदों के नाम से अखंड ज्योति जलती है।
रामनगर में यह यात्रा वर्ष 1987 में उस समय शुरू की गई थी, जब पड़ोसी राज्य पंजाब में आतंक चरम पर था। आतंकियों से लोहा लेते कई जवान शहीद हो गए थे। रामनगर के स्वयंसेवी दिवंगत ओपी जंडियाल ने कुछ साथियों के साथ अखंड ज्योति कमेटी गठित की। मकसद था शहीदों के नाम नवरात्र में अखंड ज्योति प्रज्ज्वलित करना और उनके परिवार के लिए प्रार्थना करना। साथ ही माता पिंगला के दरबार में यात्रा के माध्यम से शहीदों को श्रद्धांजलि भी देना।
पहली बार 24 अक्टूबर, 1987 को हाई कोर्ट के तत्कालीन जज जस्टिस केके गुप्ता ने माता पिंगला देवी के दरबार में शहीदों के नाम अखंड ज्योति प्रज्ज्वलित की। उसके बाद शारदीय नवरात्र में हर वर्ष यहां शहीद जवानों के नाम अखंड ज्योति प्रज्ज्वलित होती है। 
और ख़बरें >

समाचार