महामीडिया न्यूज सर्विस
जबलपुर में राष्ट्रीय संस्कृति महोत्सव का आयोजन

जबलपुर में राष्ट्रीय संस्कृति महोत्सव का आयोजन

admin | पोस्ट किया गया 15 दिन 12 घंटे पूर्व
03/10/2019
जबलपुर  [ महामीडिया ]शहर में पहली बार राष्ट्रीय संस्कृति महोत्सव का आयोजन होना है। पहले इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आने की सूचना प्रशासन तक पहुंची थी, लेकिन महाराष्ट्र व अन्य राज्यों में विधानसभा चुनाव की आचार संहिता लागू होने के कारण पीएम का आगमन निरस्त बताया जा रहा है।अब राष्ट्रपति डॉ. रामनाथ कोविंद 13 से 15 अक्टूबर के बीच शहर आ सकते हैं।  कल्चरल मिनिस्ट्री के साउथ सेंट्रल जोन कल्चर सेंटर नागपुर के अधिकारियों ने भी राष्ट्रपति के आगमन की संभावित जानकारी दी है।फिलहाल प्रशासन को अधिकृत प्रोटोकाल नहीं मिला है। हालांकि राष्ट्रपति के आगमन को ध्यान में रखकर ही शुभारंभ का दिन भी तय किया जा सकता है। जो एक दिन आगे-पीछे होने की संभावना है, क्योंकि पूर्व में 13 और 14 अक्टूबर महोत्सव के लिए तय हुए हैं।साउथ सेंट्रल जोन कल्चर सेंटर नागपुर के अधिकारी गोपाल बेताकर के मुताबिक जबलपुर में राष्ट्रीय महोत्सव की तैयारियां तेज कर दी गई हैं। अलग-अलग जगहों पर कार्यक्रमों का आयोजन करने निरीक्षण भी किए जाएंगे। कार्यक्रम से पहले देशभर से सांस्कृतिक महोत्सव में हिस्सा लेने वाले कलाकारों का दल भी शहर आ जाएगा। वहीं जिला प्रशासन द्वारा भी विभागीय तैयारियों को शुरू करने के निर्देश मिले हैं। देश के तमाम राज्यों की आदिवासी संस्कृति, भोजन संस्कृति, संगीत, चित्रकला, नृत्यकला जैसी विविध कलाओं से जुड़े कलाकार शामिल होंगे। इनकी कला व संस्कृति का प्रदर्शन करने वर्तमान में 70 स्टॉल लगाने की तैयारी की गई है। 350 से 400 की संख्या में आदिवासी फोक डांस से जुड़े कलाकार अलग-अलग राज्यों से आएंगे। इसी तरह क्राफ्ट व अन्य उत्पादों का प्रदर्शन भी किया जाएगा। जबलपुर की तर्ज पर ही सागर और रीवा में भी महोत्सव का आयोजन किया जाना है।माननीय राष्ट्रपति महोदय का आगमन राष्ट्रीय संस्कृति महोत्सव में हो सकता है। कार्यक्रम की विभागीय स्तर पर तैयारी शुरू कर दी गई है। 
" >
जबलपुर  [ महामीडिया ]शहर में पहली बार राष्ट्रीय संस्कृति महोत्सव का आयोजन होना है। पहले इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आने की सूचना प्रशासन तक पहुंची थी, लेकिन महाराष्ट्र व अन्य राज्यों में विधानसभा चुनाव की आचार संहिता लागू होने के कारण पीएम का आगमन निरस्त बताया जा रहा है।अब राष्ट्रपति डॉ. रामनाथ कोविंद 13 से 15 अक्टूबर के बीच शहर आ सकते हैं।  कल्चरल मिनिस्ट्री के साउथ सेंट्रल जोन कल्चर सेंटर नागपुर के अधिकारियों ने भी राष्ट्रपति के आगमन की संभावित जानकारी दी है।फिलहाल प्रशासन को अधिकृत प्रोटोकाल नहीं मिला है। हालांकि राष्ट्रपति के आगमन को ध्यान में रखकर ही शुभारंभ का दिन भी तय किया जा सकता है। जो एक दिन आगे-पीछे होने की संभावना है, क्योंकि पूर्व में 13 और 14 अक्टूबर महोत्सव के लिए तय हुए हैं।साउथ सेंट्रल जोन कल्चर सेंटर नागपुर के अधिकारी गोपाल बेताकर के मुताबिक जबलपुर में राष्ट्रीय महोत्सव की तैयारियां तेज कर दी गई हैं। अलग-अलग जगहों पर कार्यक्रमों का आयोजन करने निरीक्षण भी किए जाएंगे। कार्यक्रम से पहले देशभर से सांस्कृतिक महोत्सव में हिस्सा लेने वाले कलाकारों का दल भी शहर आ जाएगा। वहीं जिला प्रशासन द्वारा भी विभागीय तैयारियों को शुरू करने के निर्देश मिले हैं। देश के तमाम राज्यों की आदिवासी संस्कृति, भोजन संस्कृति, संगीत, चित्रकला, नृत्यकला जैसी विविध कलाओं से जुड़े कलाकार शामिल होंगे। इनकी कला व संस्कृति का प्रदर्शन करने वर्तमान में 70 स्टॉल लगाने की तैयारी की गई है। 350 से 400 की संख्या में आदिवासी फोक डांस से जुड़े कलाकार अलग-अलग राज्यों से आएंगे। इसी तरह क्राफ्ट व अन्य उत्पादों का प्रदर्शन भी किया जाएगा। जबलपुर की तर्ज पर ही सागर और रीवा में भी महोत्सव का आयोजन किया जाना है।माननीय राष्ट्रपति महोदय का आगमन राष्ट्रीय संस्कृति महोत्सव में हो सकता है। कार्यक्रम की विभागीय स्तर पर तैयारी शुरू कर दी गई है। 
और ख़बरें >

समाचार