महामीडिया न्यूज सर्विस
मयंक अग्रवाल ने टेस्ट क्रिकेट में दोहरा शतक बनाया

मयंक अग्रवाल ने टेस्ट क्रिकेट में दोहरा शतक बनाया

admin | पोस्ट किया गया 15 दिन 8 घंटे पूर्व
03/10/2019
विशाखापट्टनम [महामीडिया]  भारत के सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले टेस्ट के दूसरे दिन बेहतरीन दोहरा शतक जमाया। इस लाजवाब पारी के साथ मयंक ने इतिहास भी रच दिया। घरेलू सीरीज में पहली टेस्ट पारी खेलते हुए मयंक ने दोहरा शतक जमाया और अपना नाम रिकॉर्ड बुक में दर्ज करा दिया। वे भारत में ही अपनी पहली टेस्ट पारी खेलते हुए दोहरा शतक लगाने वाले वे भारत के पहले बल्लेबाज बने।इसके अलावा दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ दोहरा शतक जमाने वाले भारत के दूसरे बल्लेबाज हैं। उनसे पहले ये कारनामा वीरेंद्र सहवाग कर चुके हैं। इन दोनों खिलाड़ियों के अलावा एशिया का दूसरा कोई बल्लेबाज नहीं है जिसने प्रोटीज के खिलाफ दोहरा शतक जमाया हो।बता दें कि मंयक ने 371 गेंदों का सामना करते हुए 215 रन बनाए। अपनी पारी में मयंक ने 23 चौके और 6 छक्के लगाए। घरेलू जमीन पर पहली टेस्ट पारी खेलते हुए सबसे बड़ी पारी खेलने का रिकॉर्ड अब तक शिखर धवन के नाम था। लेकिन मयंक ने शिखर का ये रिकॉर्ड तोड़ते हुए दोहरा शतक जमाया। शिखर ने मोहाली में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ अपनी पहली टेस्ट पारी खेलते हुए 187 रन बनाए थेये मयंक का भारत में पहला टेस्ट है। इससे पहले मयंक ने 4 टेस्ट मैच खेले थे। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मेलबर्न में मयंक ने डेब्यू किया और करियर की पहली टेस्ट पारी में उन्होंने 77 रन बनाए थे। मयंक ने 5 टेस्ट मैचों की 8 पारियों में 1 शतक और 3 अर्द्धशतक जमाए हैं, जो उनके बेहतरीन प्रदर्शन को बताते हैं।घरेलू क्रिकेट में भी मयंक का प्रदर्शन जोरदार रहा है। उन्होंने 54 फर्स्ट क्लास मैचों की 93 पारियों में 4167 रन बनाए हैं, जिनमें 8 शतक और 25 अर्द्धशतक शामिल हैं। फर्स्ट क्लास क्रिकेट में उनका सर्वोच्च स्कोर नाबाद 304 रन है जो उन्होंने कर्नाटक की ओर से महाराष्ट्र के खिलाफ साल 2017 में बनाया थामयंक अपने पहले टेस्ट शतक को दोहरे शतक में तब्दील किया। ऐसा करने वाले वे भारत के चौथे बल्लेबाज हैं। इस लिस्ट में पहला नाम दिलीप सरदेसाई का था। सरदेसाई ने 1965 में न्यूजीलैंड के खिलाफ नाबाद 200 रनों की पारी खेली थी। इसके बाद विनोद कांबली ने 1993 में इंग्लैंड के खिलाफ अपने पहले टेस्ट शतक को दोहरे शतक में बदलते हुए 224 रन बनाए। इसके बाद करुण नायर ने 2016 में इंग्लैंड के खिलाफ अपने पहले शतक को तिहरे शतक में बदला था। नायर ने नाबाद 303 रन बनाए थे। ऐसे में मयंक की ये पारी यादगार साबित हुई है।
"
और ख़बरें >

समाचार